नए भारत के लिए रोड मैप लाएं युवा उद्यमी: पीएम

स्टार्टअप्स को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की युवा उद्यमियों से मुलाकात की। साथ ही साल 2022 तक नए भारत के निर्माण के लिए युवा उद्यमियों से अपने विचारों के साथ ही रोड मैप भी सामने लेकर आने का आह्वान भी किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2022 के न्यू इंडिया के निर्माण में समाज के हर तबके को जोड़ने की अपील की है। देश में बदलाव के वाहक बन रहे युवाओँ के साथ पीएम मोदी ने कल मुलाकात की और नये भारत के निर्माण में जुड़ने की अपील की।

‘चैम्‍पि‍यन ऑफ चेंज’ नाम के इस कार्यक्रम में पीएम ने फिर ने न्यू इंडिया का जिक्र किया और कहा कि ये काम केवल सरकार का नहीं है और सवा सौ करोड भारतीयों को इसके लिए आगे आना होगा। पीएम मोदी और नीति आयोग की टीम ने 6 बेहद अहम क्षेत्रों के बारे में दो सौ से अधिक युवा उद्यमियों से विचार-विमर्श किया ताकि देश का सतत विकास हो और वृद्धि में तेज गति लाई जा सके। इसमें 2022 तक नव भारत निर्माण, डिजिटल इंडिया, टिकाऊ ऊर्जावान भविष्‍य, स्‍वास्‍थ्‍य, शिक्षा और कौशल विकास पर विशेष ध्‍यान केंद्रित होगा।

युवा उद्यमियों के समूहों ने प्रधानमंत्री के सामने इस मुद्दों पर प्रजेंटेशन भी दिया। पीएम ने इन नए विचारों की सराहना करते हुए कहा कि यह पहल आगे बढ़ेगी । पीएम ने कहा कि इस समूहों के विचारों को केंद्र सरकार के संबंधित विभागों और मंत्रालयों के साथ एक साथ जोड़ा जा सकता है।

पीएम ने अपनी सरकार के कदमों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कैसे तीन सालों में सरकार ने व्यवस्था में बदलाव किया है। उन्होंने कहा कि दस्तावेजों को प्रमाणित करना और ग्रुप सी और डी पदों के लिए साक्षात्कारों खत्म करना उनमें से एक है। प्रधानमंत्री ने भ्रष्टाचार के खिलाफ भी कड़े कदम उठाने पर ज़ोर दिया।

पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार शुरु से स्टार्टअप और युवा उद्यमियों को आगे बढाने पर जोर दे रहे हैं। इन्हीं लोगों की बातों को जानने और सरकार के विचारों को उन तक पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को युवा उद्यमियों व स्टार्टअप शुरू करने वाले उद्यमियों से रूबरू हुए। ‘चैम्‍पि‍यन ऑफ चेंज’ नाम के इस कार्यक्रम में पीएम ने फिर ने न्यू इंडिया का जिक्र किया और कहा कि ये काम केवल सरकार का नहीं है और सवा सौ करोड भारतीयों को इसके लिए आगे आना होगा ।

पीएम मोदी और नीति आयोग की टीम ने 6 बेहद अहम क्षेत्रों के बारे में दो सौ से अधिक युवा उद्यमियों से विचार-विमर्श किया ताकि देश का सतत विकास हो और वृद्धि में तेज गति लाई जा सके। इसमें 2022 तक नव भारत निर्माण, डिजिटल इंडिया, टिकाऊ ऊर्जावान भविष्‍य, स्‍वास्‍थ्‍य, शिक्षा और कौशल विकास पर विशेष ध्‍यान केंद्रित होगा। युवा उद्यमियों के छह समूह ने प्रधान मंत्री के सामने इस मसलों परप प्रस्तुतीकरण किया । पीएम ने इन विचारों की सराहना की और कहा कि यह पहल आगे बढ़ेगी । पीएम ने कहा कि इस समूहों के विचारों को केंद्र सरकार के संबंधित विभागों और मंत्रालयों के साथ एक साथ जोड़ा जा सकता है।

पीएम ने कहा कि केंद्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों की टीम लोगों की भलाई के लिए नए रास्ते तलाश रही है। उन्होंने उद्यमियों को अपने संबंधित समूहों में अपनी सोच को जारी रखने के लिए प्रोत्साहित किया और कहा कि वो विचारों के साथ रोड मैप भी सामने लाएं ।

पीएम ने अपनी सरकार के कदमों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कैसे तीन सालों में सरकार ने व्यवस्था में बदलाव किया है ।उ न्होंने कहा कि दस्तावेजों को प्रमाणित करना और ग्रुप सी और डी पदों के लिए साक्षात्कारों खत्म करना उनमें से एक है ।

पीएम ने कहा कि सरकार युवाओं के साथ कनेक्ट करना चाहती हैं । युवा उद्यमियों से मुलाकात से पहले प्रधानमंत्री ने स्टार्टअप इंडिया योजना की अब तक की प्रगति का जायजा लिया। जनवरी 2016 में आयोजि‍त स्‍टार्टअप इंडि‍या कार्यक्रम के बाद यह दूसरी बार था जब प्रधानमंत्री स्टार्टअप्‍स से मिले।