सावधान! इनकम टैक्स विभाग के नकली मैसेज से हो जाएं अलर्ट

इस ख़बर को शेयर करें:

गर आपके पास इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की तरफ से कोई एसएमएस आ रहा है तो आपको जरा सा सावधान होने की जरुरत है क्योंकि इन दिनों एक बार फिर से ठगों द्वारा बड़े पैमाने पर स्कैम चलाया जा रहा है। ऐसे में आपकी जरा सी भी चूक आपको लाखों का चूना लगा सकती है।

ठगों द्वारा भेजे गए इस संदेश में रिफंड अमाउंट पाने के लिए नेट-बैंकिंग की जानकारी मांगी गई है और नीचे दिए लिंक पर जाकर लोगों को अपनी डिटेल भरने को कहा जा रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले कुछ दिनों से कई लोगों के फोन पर ये फेक एसएमएस आ रहा है जो लोगों को इनकम टैक्स रिफंड का लालच देकर ठग रहा है।

खास बात ये है कि जिस आईडी से एसएमएस भेजा जा रहा है वो सरकारी आईडी से काफी हद तक मिलता-जुलता है। जिसके कारण कंफ्यूजन में लोग अपनी निजी जानकारी को शेयर कर रहे हैं जिसका फायदा ठगी करने वाला गिरोह उठाकर आपके बैंक अकाउंट को खाली कर रहा है। आयकर विभाग ने जारी की चेतावनी लोगों को इस फ्रॉड से बचाने के लिए आईटी डिपार्टमेंट यानि आयकर विभाग ने एक कैंपेन की शुरुआत की है जिसके जरिए सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को सावधानी बरतने की अपील की जा रही है।

आयकर विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए इन फिशिंग अटैक से बचने की सलाह दी है और कहा है कि लोग ऐसे किसी भी लिंक पर क्लिक न करें जहां आपसे आपके क्रेडिट या डेबिट कार्ड की डिटेल्स शेयर करने को कहा जाए।

कैसे भरें भरें ऑनलाइन Income Tax ?

विभाग ने अपील की है कि कोई भी सरकारी विभाग किसी रिफंड के लिए लोगों को मैसेज न तो करता है न ही उनसे कोई इस तरह की डिटेल्स शेयर करने की मांग करता है। आपको बता दें कि इन फेक मैसेज के साथ फेक एसबीआई ऑनलाइन बैकिंग वेबसाइट का लिंक भी साथ में आ रहा है।

हालांकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब इस तरह के ऑनलाइन फ्रॉड का मामला सामने आया हो। इससे पहले अगस्त में लोगों के पास उनके इनकम टैक्स रिफंड अप्रूव्ड होने के मैसेज आ रहे थे। जहां टैक्सपेयर्स का गलत अकाउंट बताकर उसे ठीक करने की अपील की जा रही थी।

4 हजार लोगों को लग चुका है चूना

जानकारी के मुताबिक किसी रशियन डोमेन पर 11 दिसंबर को इस बिटली लिंक को क्रिएट किया गया है। भारत में अब तक करीब 4 हजार लोग इस लिंक पर क्लिक कर चुके हैं। अगर आपने भी ऐसी भूल की है और अपने कार्ड की जानकारी शेयर की है तो तुरंत अपने बैंक से कॉन्टेक्ट करें और अपने कार्ड को डिएक्टिवेट कराएं।

इस फ्रॉड से कैसे बचें

आयकर विभाग ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया और कहा कि अगर आपके पास ऐसा कोई भी संदेश आता है तो आप तुरंत 18001030025 पर कॉल कर फ्रॉड के बारे में जानकारी दें।

कैसे करें फेक आईडी की पहचान

हालांकि दोनों ही आईडी काफी मिलती-जुलती है, जिसे पहचाना बेहद कठिन है लेकिन आप थोड़ी सी सावधानी बरतें तो इस ठगी से बहुत आसानी से बच सकते हैं। आपको बता दें कि सरकारी और फेक आईडी में स्पेलिंग का थोड़ा सा अंतर है। फेक आईडी में फाइलिंग (Filling) लिखा हुआ है जबकि आयकर विभाग की सरकारी आईडी में ई-फाइलिंग (efiling) लिखा है। https://www.incometaxindiaefiling.gov.in/ इसके अलावा फेक आईडी में अगर आप देखेंगे तो डबल ‘एल’ (Filling) लिखा हुआ है वहीं सरकारी आईडी में सिंगल ‘एल’ (Filing) है।

ये है फर्जी आईडी

जिस फेक आईडी से लोगों को ठगा जा रहा है वो है donotreply@incometaxindiafilling.gov.in . तो आप अब से ध्यान रखें और फर्जीवाड़ें से खुद को अपने दोस्तों को भी बचाएं नहीं तो आपको एक लिंक पर क्लिक करना काफी महंगा पड़ सकता है।