इलेक्ट्रोनिक मीडिया पर प्रसारित हेाने वाले विज्ञापन से पूर्व समिति से प्रमाणीकरण कराना होगा
इस ख़बर को शेयर करें

केबिल ऑपरेटर को देना हेागी प्रतिदिन प्रसारित की जाने वाली गतिविधियों की सीडी/डीवीडी

दतिया | दतिया जिले के भाण्डेर विधानसभा उपनिर्वाचन में चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों एवं राजनैतिक दलों को न्यूज चैनल एवं स्थानीय केविल पर प्रसारित किए जाने वाले विज्ञापनों को प्रसारण से पूर्व जिला स्तरीय मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मॉनीटरिंग कमेटी (एमसीएमसी) से प्रमाणीकरण कराना आवश्यक होगा।

झांसी ग्वालियर हाईवे पर स्थित न्यू कलेक्ट्रेट में बनाए गए मीडिया सेंटर एमसीएमसी कक्ष में उम्मीदवारों एवं राजनैतिक दलों को न्यूज चेनल एवं स्थानीय केविल से प्रसारित होने वाले विज्ञापन के पूर्व एमसीएमसी कमेटी से सार्टिफिकेशन लेना आवश्यक होगा।

उम्मीदवार या उसके अभिकर्ता या राजनैतिक दल सार्टिफिकेशन हेतु विज्ञापन एंव कार्यक्रम के स्क्रीप्टि हस्तलिखित या टाईपिंग की गई देा प्रतियों में स्व प्रमाणित कर निर्धारित प्रारूप 27 में प्रस्तुत करेगा। पंजीकृत राजनैतिक दलेां के अभ्यार्थियों द्वारा किसी विज्ञापन केप्रमाणन हेतु प्रसारण तिथि से कम से कम तीन दिन पूर्व आवेदन पत्र और विज्ञापन की सीडी/डीवीडी प्रस्तुत करेगा। जिस पर समिति द्वारा दो दिवस में सार्टिफिकेशन किया जाएगा।

गैर पंजीकृत राजनैतिक दलों या स्वतंत्र उम्मीदवारों को प्रसारण तिथि से कम से कम सात दिन पूर्व निर्धारित प्रारूप में सार्टिफिकेशन हेतु आवेदन करना हेागा। एमसीएमसी और प्रदाविहित अधिकारी सार्टिफिकेशन से पूर्व विज्ञापन में संशोधन या कुछ विलोपित करने के निर्देश दे सकता है।

जिसका पालन 24 घंटे में करना हेागा। प्रत्याशी/राजनैतिक दलों को संशोधित विज्ञापनों का पुन सार्टिफिकेशन कराना होगा। सार्टिफिकेशन निर्धारित प्रारूप 27 (ठ) में करके दिया जाएगा। प्रत्याशी एवं राजनैतिक दल को विज्ञापन के प्रमाणीकरण हेतु आवेदन पत्र के साथ विज्ञापन की लागत, प्रसारण चैनल एवं केविल का नाम, प्रसारण तिथि, प्रसारण अवधि, शपथ पत्र व्यय में सम्मिलित कर लिया है।

व्यय का भुगतान चैक या डीडी से किया जाने की जानकारी प्रस्तुत करनी हेागी। एमसीएमसी की बिना अनुमति के विज्ञापन प्रकाशित करने पर केविल ऑपरेटर के उपकरण जप्त कर संबंधित प्रत्याशी के विरूद्व कार्यवाही की जाएगी। केविल आपरेटर द्वारा प्रतिदिन प्रसारित की जाने वाली राजनैतिक गतिविधियों की सीडी एवं डीबीडी बनाकर जिला स्तरीय एमसीएमसी समिति को देना हेागा। शोपिंग मॉल, सिनेमा घर के अंदर ऑडियो वीडियो आदि पर प्रसारित होने वाले राजनैतिक विज्ञापनों का प्रमाणीकरण एमसीएमसी से कराना होगा, बिना प्रमाणीकरण के प्रसारण नहीं कर सकेंगे।