सावधान! कहीं आप सीवेज और केमिकल युक्त पानी से धुले आलू तो नहीं खा रहे
ग्वालियर में जिला प्रशासन ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए सैकड़ों बोरी आलू जब्त किया है। इस आलू को सीवरेज और केमिकल युक्त पानी से धो कर साफ किया जाता था। जिला प्रशासन और खाद्य विभाग के अधिकारियों की टीम ने शहर से सटे रूद्रपुरा गांव में गुरुवार सुबह छापे की कार्रवाई की।

यहां जहरीले पानी से साफ किए जा रहे सैकड़ों बोरी आलू को जब्त करन उनके सैंपल लिए गए। खाद्य विभाग की टीम ने इन सैंपल को जांच के लिए प्रयोगशाला में भेजा है। खराब पानी से आलू की सफाई की वजह से कीटाणु और जहरीले तत्व सीधे शरीर में जाने का खतरा बना हुआ था।

दरअसल, किसानों से कुछ व्यापारी ये आलू खरीदकर इसे रूद्रपुरा गांव में गंदे पानी से धोया जाता था। जिससे कि मंण्डी में इस आलू की कीमत ज्यादा मिल सके। इस पुरे गोरखधंधे का खुलासा रविवार को ईटीवी ने किया था, जिस पर जिला प्रशासन ने टीम बनाकर छापा मारा। प्रशासनिक अधिकारियों के मुताबिक जांच रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है. इसी जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

ग्रामीणों के मुताबिक गांव में पानी की कमी होने की वजह से वह इस तरह गंदे पानी का इस्तेमाल करत है, जिससे बाजार में बगैर मिट्टी लगा हुआ आलू सप्लाई किया जा सके। इतना ही नहीं आलू को साफ करने के लिए कई बार यहां मजदूर पैर में चप्पल पहनकर उसे साफ करते हैं।