मुख्यमंत्री ने जनपद वाराणसी में जनपदीय विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने श्री काशी विश्वनाथ को केन्द्र मानते हुए महामृत्युंजय महादेव, कालभैरव सहित नौ दुर्गा एवं नौ गौरी के मंदिरों का सर्किट के रूप में ’पावन पथ’ बनाए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि काशी सनातन हिन्दू धर्म की आस्था का केन्द्र है। साथ ही, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का संसदीय क्षेत्र भी है। उन्होंने पावन पथ के मार्गों को अतिक्रमणमुक्त कराकर मार्गों का सुन्दरीकरण, प्रकाश व्यवस्था सहित सफाई के समुचित व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने पर जोर देते हुए काशी को अतिक्रमणमुक्त किए जाने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री जी आज अपने दो दिवसीय जनपद वाराणसी दौरे के पहले दिन सर्किट हाउस में जनपदीय विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि धर्मनगरी काशी देश-विदेश के लोगों के आकर्षण का केन्द्र है। ‘पावन पथ’ के रूप में इसके प्रमुख मन्दिरों का सर्किट तैयार कर पूरी तरह विकसित कर दिए जाने से श्रद्धालुओं को सुविधाएं मिलेंगी।

विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान योगी जी ने हृदय योजनान्तर्गत कराए जा रहे कार्यों की मिल रही शिकायत को संज्ञान लेते हुए नगर आयुक्त सहित अन्य सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि युद्धस्तर पर अभियान चलाकर सड़कांे के निर्माण कार्य सहित भूमिगत वायरिंग एवं हेरिटेज पोल लगाए जाने के कार्य को निर्धारित अवधि में गुणवत्ता के साथ पूरा कराए। काशी में यातायात की प्रमुख समस्या बताते हुए उन्होंने कहा कि शासन द्वारा फेरी नीति बनायी गई है। उन्होंने शहर को अतिक्रमणमुक्त किए जाने हेतु पटरी व्यवसायियों को स्थान चिन्हित कर पुनस्र्थापित करने के निर्देश दिए।

योगी जी ने प्रधानमंत्री जी के आगामी दौरे से पूर्व 30 हजार स्ट्रीट एल0ई0डी0 लाइटों को लगाए जाने के निर्देश दिए। हृदय योजनान्तर्गत तालाबों एवं कुण्डों के कराए जा रहे कार्यों को भी समय से पूरा कराने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि हृदय योजना में भ्रष्टाचार की शिकायतें मिल रही हैं। उन्होंने काशी पावन नगरी में आने के बाद भी अधिकारियों द्वारा अपनी आदतों में सुधार न लाए जाने पर अफसोस जाहिर करते हुए कहा कि ऐसे भ्रष्ट अधिकारियों को चिन्ह्ति किया जाए, ताकि ऐसे अधिकारियों की नकेल कसी जा सके।

मुख्यमंत्री जी ने करसड़ा स्थित कूड़ा निस्तारण प्लाण्ट को नवम्बर तक एन0टी0पी0सी0 एवं नवम्बर के बाद नगर निगम द्वारा संचालित किए जाने की जानकारी पर करसड़ा प्लाण्ट के आसपास के गांवों में रहने वालों को कूड़े से आने वाली बदबू से दो माह में निजात दिलाए जाने के निर्देश दिए। पेयजलापूर्ति की समीक्षा के दौरान पूर्व के निर्देशों के बावजूद अब तक पेयजल एवं सीवर की आपस में जुड़ी लाइनों को अलग न कर पाने पर जल निगम के अभियन्ताओं को कड़ी फटकार लगाते हुए मुख्यमंत्री जी ने गहरी नाराजगी जतायी।

नगर आयुक्त ने बताया कि पेयजल लाइनों के लिंकेज के कारण लगभग 45 फीसदी बर्बाद होने वाले पेयजल को बचाने के लिए इजराइल के तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने बताया कि भारत एवं जापान के मध्य हुए समझौते के क्रम में वाराणसी कन्वेंशन सेण्टर के निर्माण हेतु नगर निगम का पे्रक्षागृह खाली कराया जा रहा है। अगले साल जून से निर्माण कार्य शुरू करा दिया जाएगा। डिजिटल म्यूजियम बनाए जाने हेतु अस्सी घाट पर स्थान चिन्हित किया गया है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि स्वच्छता सूची में काशी 32वें स्थान पर है, जबकि इसे एक नम्बर पर होना चाहिए। उन्होंने वरुणा पेयजल परियोजनाओं के प्रगति की समीक्षा के दौरान ट्रांस वरुणा के तहत 23 में 7 एवं सिस वरुणा में 25 में 17 ओवरहेड टंकियों से पेयजलापूर्ति होने की जानकारी पर नाराजगी जताते हुए शेष 24 ओवरहेड टंकियों से भी पेयजलापूर्ति सुनिश्चित कराए जाने हेतु युद्धस्तर पर अभियान चलाकर लाइनों को दुरुस्त कराए जाने के निर्देश दिए।

योगी जी ने भू-माफियाओं पर की जा रही कार्यवाही की समीक्षा के दौरान अब तक के प्रगति को नाकाफी बताया तथा सार्वजनिक, सरकारी एवं गरीबों की जमीनों पर अवैध कब्जा करने वाले भू-माफियाओं के विरुद्व अभियान चलाकर कार्यवाही करने के साथ ही उनके कब्जे से जमीनों को खाली कराए जाने के निर्देश दिए। अभियान के दौरान गरीब एवं दलितों का कतई उत्पीड़न न होने देने पर विशेष जोर देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीब एवं दलित व्यक्ति द्वारा यदि सार्वजनिक भूखण्ड पर झोपड़ी लगाकर निवास किया जा रहा हो, तो उसकी झोपड़ी उजाड़ने के बजाए उसकी पात्रता के आधार पर उसे भूखण्ड आवंटित किया जाए।

कानून व्यवस्था की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री जी ने गत दो महीने में वाराणसी में अपराध का ग्राफ घटने पर सन्तोष व्यक्त किया। उन्होंने चेन स्नेचिंग सहित छोटे-छोटे अपराध में बढ़ोत्तरी होने पर प्रभावी कार्यवाही किए जाने पर जोर दिया। उन्होंने काशी के प्रसिद्ध रामलीलाओं का जिक्र करते हुए कहा कि महिलाओं, बालिकाओं सहित आम लोगों को सुरक्षा प्रदान किए जाने हेतु पूरे वाराणसी जोन में 10-12 दिनों का विशेष अभियान चलाया जाए तथा जेलों से छूट कर आए और संगठित गिरोह चलाने वाले सक्रिय अपराधियों को उनके सही ठिकाने तक पहुंचाया जाए।

मुख्यमंत्री जी ने अपराध को सख्ती के साथ कुचलने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही के दौरान व्यापारियों से भी वार्ता किए जाने पर जोर देते हुए कहा कि अतिक्रमण हट जाने के बाद दोबारा अतिक्रमण करने वालों पर कार्यवाही की जाए। साथ ही, सम्बन्धित इलाके के पुलिस क्षेत्राधिकारी एवं थाना प्रभारी की जिम्मेदारी निर्धारित कर कड़ी कार्यवाही की जाए।

योगी जी ने पुलिस का इकबाल कायम किए जाने हेतु पुलिस अधिकारियों को रोजाना कम से कम 45 मिनट फूट पेट्रोलिंग किए जाने के निर्देश दिए। डायल 100 को और प्रभावी बनाए जाने पर विशेष जोर देते हुए