दक्षिण चीन सागर पर चीन ने जताई संप्रभुता

चीन ने दक्षिण चीन सागर के कुछ हिस्सों पर अपनी निर्विवाद प्रभुसत्ता बताई है। ट्रम्प प्रशासन द्वारा दक्षिण चीन सागर में चीन को रोकने के बारे में दिए गए बयान के बाद चीन ने यह बात कही है। चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि वह इस क्षेत्र में अपने अधिकार की कड़ाई से रक्षा करेगा। व्हाइट हाउस के प्रवक्ता सीन स्पाइसर ने सोमवार को कहा था कि अमरीका यह सुनिश्चित करेगा कि दक्षिण चीन सागर में उसके हितों की रक्षा हो।

बराक ओबामा प्रशासन ने इस विवाद में कोई पक्ष लेने से इंकार कर दिया था। हालांकि प्रशासन ने उस समय बी-52 बमवर्षक विमान और नौसेना का एक पोत पिछले वर्ष भेजा था। अमरीका के तत्कालीन विदेश मंत्री जॉन केरी ने इसे इस क्षेत्र में सैनिकीकरण में वृद्धि होना बताया था। कई राष्ट्र संसाधनों से युक्त दक्षिण चीन सागर पर अपना दावा करते है। यह क्षेत्र जहाजों का एक प्रमुख मार्ग भी है।