लापता सुखोई पर चीन का जवाब-पता नहीं, लेकिन पहले भारत को दी ‘नसीहत’

चीन ने बुधवार को कहा है कि भारतीय वायुसेना के लापता सुखोई फाइटर जेट के बारे में उसके पास कोई जानकारी नहीं है. मंगलवार को दो पायलटों के साथ अरुणाचल प्रदेश के पास से लापता हो गया था जिसका अभी तक पता नहीं लग पाया है. लेकिन चीन ने सुखोई के सवाल के जवाब में ये भी कह दिया कि भारत को सीमा पर शांति बनाए रखने की कोशिश करनी चाहिए, जैसा कि भारत-चीन के बीच हुए समझौते में तय हुआ है.

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ल्यु कांग से पत्रकारों ने ये भी पूछा कि क्या चीन सुखोई को तलाशने में भारत की मदद करने वाला है तो उन्होंने कहा कि उनके पास इसकी कोई जानकारी नहीं है. सबसे पहली बात, चीन-भारत सीमा के पूर्वी हिस्से को लेकर हमारी स्थिति लगातार ही स्पष्ट रही है.

वहीं दक्षिण तिब्बत के हालात पर हम करीबी नजर बनाए हुए हैं. हमें उम्मीद है कि भारत दोनों पक्षों के बीच बनी सहमति पर टिका रहेगा और सीमाई इलाकों में शांति और स्थिरता को भंग करने वाली किसी भी गतिविधि से बचना चाहेगा.

ल्यु कांग, प्रवक्ता, विदेश मंत्रालय, चीन
सुखोई ने असम के तेजपुर एयरबेस से उड़ान भरी थी और अरुणाचल में भारत-चीन बॉर्डर के पास लापता हुआ है. सर्च ऑपरेशन में खराब मौसम की वजह से खासी दिक्कत आ रही है.