चीन के प्रति फूटा गुस्सा शिवसेना के नेतृत्व में चीन के झंडे और चीनी वस्तुओं का दहन किया गया

जबलपुर। भारत के प्रति चीन के दोहरा मापदंड को लेकर जिले के लोगों में वैसे तो पहले से ही आक्रोश था मगर, लद्दाख के गलवन घाटी में बीस सैनिकों की शहादत ने इस गुस्से को और ज्यादा भड़का दिया है। गुस्से से लाल शिव सैनिकों ने विरोध स्वरुप चीनी सामानों का बहिष्कार करना शुरू कर दिया है। पिछले कुछ वर्षों से लोग चीनी सामानों के बहिष्कार का अभियान चला रहे हैं, मगर हालिया घटना ने उसे और तेज कर दिया है। चीनी वस्तुओं के बहिष्कार का व्हाट्सएप्प ग्रुप से लेकर फेसबुक, ट्विटर आदि मुहिम चलाई जा रही है।

शिवसेना के द्वारा जबलपुर मालवीय चौक पर चीन का झंडा एवं चीनी वस्तुओं का दहन किया गया इसके पहले हमारे संस्कार धानी के राजेश औरांग जी को जो चीन सीमा पर सैन्य आक्रमण के दौरान हमारे सैनिक के रूप में शहीद हुए हैं उनको श्रद्धांजलि देकर शिवसेना ने कड़ा विरोध जताया।

शिवसेना प्रदेश प्रवक्ता कन्हैया तिवारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से कठोर से कठोर निर्णय लेने की मांग की और आम जनता से चीनी वस्तुओं के बहिष्कार का एक आंदोलन चलाने का आग्रह किया ,इसके पश्चात जबलपुर जिला शिवसेना अध्यक्ष शैलेंद्र बारी ने चीन के कायराना हरकत की निंदा की और चीनी वस्तुओं का हम भारतीयों द्वारा बहिष्कार किया जाए मांग की।

चीनी वस्तुओं ने भारत के बाजार पर कब्जा जमा लिया है. सस्ती कीमत इसका सबसे बड़ा कारण है. अब चीनी सामान का ये दबदबा समाप्त किया जायेगा और इस पर काम भी शुरू हो गया है. फर्नीचर आइटम के आयात पर लगने वाले टैक्स में वृद्धि की गई है।

इसमें इस कार्यक्रम में पं कन्हैया तिवारी प्रदेश प्रवक्ता शिवसेना, रवि बैन प्रदेश मीडिया प्रभारी, शैलेंद्र बारी जिला अध्यक्ष, भवानी सतनामी ,गजेंद्र गुप्ता, प्रमोद तिवारी, मनोज पासवान ,हिमांशु त्रिपाठी इत्यादि शिवसैनिक उपस्थित थे ।