सीएम हैल्पलाइन के प्रति अधिकारियों को अपनाना होगा सकारात्मक रूख

जबलपुर@ कलेक्टर महेशचन्द्र चौधरी ने अधिकारियों को आगाह किया है कि यदि वे सीएम हैल्पलाइन प्रकरणों के प्रति लापरवाही बरकरार रखेंगे तो यह उन्हें महंगा पड़ सकता है। इन प्रकरणों का सही प्रकार से संतोषजनक समाधान तभी हो सकेगा जब अधिकारी सीधे शिकायतकर्ता से टेलीफोन पर बात कर, उनकी शिकायत को समझेंगे और इसके फौरन बाद निराकरण के लिए कदम उठाएंगे।

श्री चौधरी आज यहां समय-सीमा बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने विभिन्न विभागों में लम्बित हैल्पलाइन प्रकरणों की समीक्षा करते हुए उन विभाग प्रमुखों को खबरदार किया जो अभी भी शिकायतकर्ता से बात करने से परहेज बरत रहे हैं। इस सिलसिले में उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी और सीईओ जिला पंचायत से अपेक्षा की कि वे शिकायतों के समाधान की गुणवत्ता बेहतर बनाने के लिए कदम उठाएंगे। श्री चौधरी ने सहायक आयुक्त आदिवासी विकास द्वारा किए जा रहे समाधान को संतोषजनक माना।

श्री चौधरी ने कहा कि सीएम हैल्पलाइन के प्रति अधिकारियों को सकारात्मक रूख अपनाना होगा जो अधिकारी रेड जोन में हैं उन्हें ग्रीन जोन में आने की दिशा में तत्काल कदम उठाने चाहिए। इस सिलसिले में सीएमएचओ को कलेक्टर ने विशेष रूप से फौरन अपेक्षित कार्यवाही के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि रेड जोन के सभी अधिकारियों को नोटिस जारी किए जाएंगे। समीक्षा के दौरान श्री चौधरी ने चिकित्सा शिक्षा, जिला उद्योग केन्द्र, सामाजिक न्याय, लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी विभागों में एल-4 स्तर पर बड़ी संख्या में लम्बित शिकायतों पर ऐतराज जताया। लोक सेवा प्रदाय की गारंटी के तहत श्री चौधरी ने साफ तौर पर कहा कि इस सम्बन्ध में लापरवाही बरते जाने पर सम्बन्धित अधिकारियों पर जुर्माना किया जाएगा।