सामूहिक विवाह समारोह में पहुंचे सीएम शिवराज, 1051 जोड़ों को दिया आशीर्वाद

बड़वानी। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को बड़वानी जिले के सेंधवा में आयोजित मुख्यमंत्री कन्यादान योजना सामूहिक विवाह समारोह में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने शादी करने वाले 1051 जोड़ों को अपना शुभ आशीर्वाद प्रदान किया। जिनमें 25 जोड़ों का निकाह व शेष 1026 जोड़ों का विवाह मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह/निकाह अंतर्गत किया गया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने सेंधवा में 29 करोड़ 94 लाख की लागत से निर्मित 13 कार्यों का लोकार्पण भी किया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सेंधवा में रविवार को आयोजित कार्यक्रम के दौरान 5 करोड़ की लागत से निर्मित सिविल अस्पताल भवन, 7 करोड़ 87 लाख से निर्मित शासकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज भवन तथा 2 करोड़ की लागत से निर्मित सेंधवा नगरपालिका के भव्य प्रशासनिक भवन, 2 करोड़ 8 लाख से निर्मित 30 बिस्तरीय वरला अस्पताल भवन, 20-20 लाख की लागत से निर्मित उमर्टी, पांजरिया, विनायकी, कालीकुण्डी, धमारिया, धावड़ा के उप स्वास्थ्य केन्द्र भवन का लोकार्पण किया।

इसी प्रकार मुख्यमंत्री ने 4 करोड़ 7 लाख की लागत से निर्मित पिसनावल बैराज, 3 करोड़ 91 लाख की लागत से निर्मित नकटीरानी बैराज तथा 3 करोड़ 81 लाख की लागत से निर्मित ठीगली बैराज का भी लोकार्पण किया। इन तीनो बैराज से अब इस क्षेत्र की 790 हेक्टर भूमि सिंचित होने लगेगी। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने शाहपुरा में निर्मित होने वाले 132/33 केव्हीए विद्युत उपकेन्द्र का भूमि पूजन भी किया।

मुख्यमंत्री ने सेंधवा में रविवार को मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह योजना के तहत आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में शादी करने वाले 1151 जोड़ों को जहां योजना के तहत मिलने वाले उपहारों का वितरण प्रतीकात्मक रूप से कुछ जोड़ों को किया वहीं समस्त नवयुगलों को अपना आशीर्वाद देते हुए बताया कि मध्यप्रदेश सरकार की इस अनूठी योजना को देश के कई अन्य राज्य भी अब अपने यहां संचालित कर रहे हैं।

यही इस योजना की कामयाबी का प्रतीक है कि गरीबों की पुत्रियों की भी शादी सरलता से हो जाती है और पालकों को इसके लिए कोई कर्जा नहीं लेना पड़ता। वही सामूहिक विवाह आयोजन होने से कई कुरीतियों को भी समाप्त करने में मदद मिली है।

इस दौरान प्रदेश के पशुपालन मंत्री एवं सेंधवा के विधायक अंतर सिंह आर्य, क्षेत्रीय सांसद सुभाष पटेल ने लोकार्पित कार्यों के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए बताया कि इन लोकार्पित कार्यों से क्षेत्र की वर्षों पुरानी मांग पूरी हो गई है। जनप्रतिनिधि द्वय ने आशा व्यक्त किया कि सिविल अस्पताल भवन बन जाने से अब जहां क्षेत्र के दूरदराज क्षेत्रों से आने वाले गरीबों को और बेहतर इलाज की सुविधा मिलेगी वहीं शासकीय पॉलिटेक्निक कालेज के भवन बन जाने से क्षेत्र के युवाओं को अपना तकनीकी कौशल बढ़ाने व्यवसायिक ट्रेड में विभिन्न डिप्लोमा प्राप्त करने में और सरलता होगी इससे उन्हें बेहतर रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसर मिल सकेंगे

मुख्यमंत्री ने सामूहिक विवाह आयोजन में विवाह करने वाले वर को आम का पौधा तथा वधू को जाम का पौधा भी भेंट किया। उन्होंने क्षेत्रीय विधायक एवं प्रदेश के पशु पालन मंत्री अंतरसिंह आर्य की मांग पर कई घोषणाएं की। इसमें अगले शिक्षा सत्र से बलवाड़ी में महाविद्यालय प्रारंभ करवाने, सेंधवा नगर पालिका को पृथ्क से 5 करोड़ रुपये विकास कार्यो हेतु देने, सेंधवा नगर में रेस्ट हाउस बनवाने, सम्पूर्ण जिले में जहां भी संभव होगा वहां पर नर्मदा का पानी लिफ्ट कर खेतो में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराने, दशहरा मैदान सेंधवा में बाउण्ड्रऊीवाल का निर्माण करवाने, सोनखेड़ी, दुगानी, रोजानीमाल, मेहतगांव की नदियो पर बैराज का निर्माण करवाने, सेंधवा माध्यमिक विद्यालय क्रमांक 3 को उन्नयन कर हाई स्कूल में परिवर्तित करने, झोपाल, गोई निहाली मार्ग, सेंधवा से वरला मार्ग, कोलकी से सोलवन मार्ग, घुड़चाल में गोई नदी पर पुलिया निर्माण, सिरवले खारक नदी पर पुलिया निर्माण, दुगानी नदी पर पुलिया निर्माण, धवली टाण्डा नदी पर पुलिया निर्माण, धनोरा एवं बलवाड़ी में कन्या हाई स्कूल खोलने, मालवन हाई स्कूल को हायर सेकेण्डरी में उन्नयन करने, धवली एवं गवाड़ी में 33/11 केव्ही का विद्युत उपग्रेड उपकेन्द्र का निर्माण करवाने की भी उन्होने घोषणा की।