आज से पीएम के गढ़ में दो दिन के दौरे पर रहेंगे सीएम योगी

वाराणसी। प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ तीसरी बार प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी दौरे पर 26 अगस्त को आने वाले हैं। जिसको लेकर जिलाप्रशासन की ओर से तैयारियां जोरो पर चल रही हैं। अपने इस दो दिवसीय दौरे पर सीएम योगी वाराणसी में हो रहे विकास कार्यों का जायजा लेंगे।

बात अगर विकास कार्यों की कि जाये तो इसके पूर्व दो दौरे के बाद भी धरातल पर आमजन के मूल आवश्यकता और अर्थव्यवस्था को मजबूती देने में सबसे अधिक सहायक सड़क मार्ग का हाल अभी भी खस्ता नजर आ रहा है। जबकि पूर्व के दौरों में ही सीएम योगी ने इन खामियों को दूर कर लिये जाने के निर्देश दिये थे। लेकिन शायद अ​धीनस्थों पर उनकी बात का कोई असर होता नहीं दिखाई पड़ रहा है जिसका खामियाजा काशीवासियों को भोगते हुए रोजाना जान हथेली पर रख सड़को पर गुजरना पड़ रहा है।

हाल ही, बारिश के दिनों में शहर के विभिन्न मार्ग अचानक से धंसने के कारण आमजन को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा था लेकिन इसके बावजूद अभी भी सिर्फ खानापूर्ति ही चल रहा है। लक्सा के रहने वाले स्थानीय नागरिक रविकान्त विश्वकर्मा कहते है कि सीएम योगी एक अच्छे योगी व संत तो हो सकते है लेकिन मुखिया अभी तक नहीं बन पाये क्योंकि उनके दो दौरे पूर्व में हुए और उस समय से ही सड़क का हाल बुरा है। जगह-जगह गड्ढे खुदे पड़े है राहगीर को जान जोखिम में डाल कर जाना पड़ रहा है लेकिन प्रशासनिक अमला अभी तक इस पर ध्यान नहीं दे पा रहा है।

वहीं, रामापुरा निवासी प्रमोद वर्मा कहते हैं कि सड़क, बिजली और पानी तीनों की स्थिति काफी खराब है। शहर में एक हजार से अधिक गड्ढे मिलेंगे पूरी तरह से सड़के जर्जर हो गयी है जिससे आये दिन दुर्घटनाएं हो रही है।

बता दें कि पूर्व में दौरे में सीएम ने अधिकारियों संग बैठक में विकास कार्यों को तेजी से पूरा करने के निर्देश दिये थे जिनमें खासतौर पर गड्ढायुक्त सड़को को दुरूस्त किया जाना था लेकिन उनके जाने के बाद उनके सारे निर्देश इंडे बस्ते में चले गये जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि इस बार के दौरे में सीएम कई अधिकारियों की छुट्टी भी कर सकते हैं।