देश के उत्तरी राज्यों में शीतलहर जारी

पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी से मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ती जा रही है। पिछले कई सालों में राजधानी दिल्ली में शनिवार को मकर संक्रांति का दिन सबसे ज्यादा सर्द रहा। हांलाकि दोपहर में सर्दी का असर कुछ कम हुआ, लेकिन दोपहर बाद आसमान पर फिर से बादल छा गए और पारा गिर गया। आज सुबह से ही सर्दी में कुछ राहत नजर आ रही है। मध्य प्रदेश के दमोह में तापमान 0.2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। दमोह में सर्दी का 50 साल का रिकार्ड टूट गया है।

उधर हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी के सात दिन बाद भी प्रदेश में कई सड़कें यातायात के लिए बंद हैं। इससे लोगों को भारी दिक्कतों को सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग ने 16 जनवरी को हिमाचल प्रदेश के मध्यम से ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी बर्फबारी की चेतावनी जारी की है।

पंजाब और हरियाणा में भी शीत लहर का प्रकोप बना हुआ है। उत्तर प्रदेश के सभी भागों में कड़ाके की ठंड जारी है।श्रीनगर में शीत लहर का प्रकोप इतना ज्यादा है कि डल झील समेत बाकी झीलों का पानी भी बर्फ बनने लगा है। मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ के कारण ऊंचाई वाले इलाकों में फिर बारिश और बर्फबारी हो सकती है। श्रीनगर में रविवार को न्यूनतम तापमान शून्य से 2.3 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।