कासगंज हिंसा के पीड़ितों को मिलेगा मुआवजा, शासन ने स्वीकृत की 70.20 लाख की रकम

इस ख़बर को शेयर करें:

कासगंज। कासगंज जिला मुख्यालय पर बीते 26 जनवरी को तिरंगा यात्रा के दौरान हुई हिंसा व युवक चंदन की मौत के बाद हुई घटनाओं के पीड़ितों के लिए शासन ने 70.20 लाख की आर्थिक सहायताराशि स्वीकृति की है। प्रदेश सरकार के सचिव भगवान स्वरूप द्वारा इस सहायता का पत्र कासगंज जिलाधिकारी को प्रेषित किया गया है।

कासगंज जिलाधिकारी कार्यालय से प्राप्त सूचनाओं के मुताबिक शासन द्वारा स्वीकृति की गयी इस धनराशि में मृत युवक अभिषेक गुप्ता उर्फ चंदन को तत्काल रायफल क्लब से दी गयी 20 लाख की सहायताराशि भी शामिल है। यह राशि रायफल क्लब के खातों में समायोजित की जाएगी।

इसके अलावा, हिंसा में गोली लगने से घायल नौशाद पुत्र निसार निवासी मो. नवाब, अकरम हबीब सिद्दीकी निवासी महाराजनगर लखीमपुर को 50-50 हजार, अनीस निवासी ठंडीसड़क की बस में तोड़फोड़ होने पर 40 हजार, अयूब निवासी किलारोड की बस के शीशे टूटने पर 20हजार, बोबी निवासी ठंडी सड़क की बस जलाने के मामले में 1.5 लाख, मुहीन निवासी मो. नवाब की बस जलने पर 1.5 लाख की सहायता दी जाएगी।

इसी प्रकार, शेरवानी बूट हाउस में हुई आगजनी के लिए 20 लाख, बाबा बूट हाउस की क्षति के लिए 20 हजार, मो. ताहिर की बारादरी स्थित दुकान की आगजनी के लिए दो लाख, अंसारी फर्नीचर अमापुर रोड व प्रिंस शू कंपनी की दुकान की आगजनी की व मोहम्मद मियां की दुकान की क्षति के लिए 2.5-2.5 लाख की सहायता राशि स्वीकृति की गयी है।

हसीम के घर व मारुति कार के जलने पर 30 हजार, मुमताज मेडीकल की आगजनी के लिए दो लाख, हसीन बेग निवासी गली मनौटा के मकान, मालगोदामरोड स्थित शकील कन्फेक्शनरी की दुकान की आगजनी के लिए 2-2 लाख और हाजी मोहम्मद अलीम की गलीखेड़िया मस्जिद की आगजनी के लिए एक लाख की सहायता दी जाएगी।

वहीं, शादाब, वसीम, फूलखां, नूरमुहम्मद, पप्पू, अनवार, सलीम, जावेद, शमशाद, शहीद, चमन, बहारमियां सरदार खां, आलेहसन के क्षतिग्रस्त एवं आगजनी का शिकार बने खोखों के लिए 20-20 हजार, मोहम्मद समी के खोखे को नाले में गिराकर क्षतिग्रस्त करने पर 25 हजार, तहजीब की शीशे की दुकान व जयभगवान की बाइक रिपेयरिंग की दुकान एवं अकरम निवासी लखीमपुर खीरी की सफारी गाड़ी को क्षतिग्रस्त करने की घटना में 1-1 लाख की आर्थिक सहायता दी जाएगी।

जबकि अशरफ की भूसा बुर्जी जलने पर सात हजार की आर्थिक सहायता दी जाएगी। सचिव भगवान स्वरूप ने सहायता राशि के वितरण के संबन्ध में निर्देश दिए हैं कि प्रत्येक हिंसा पीड़ित को सहायता समुचित सत्यापन एवं जांचोपरान्त दी जाये। जिन लोगों के द्वारा अपने आवास, दुकान, व्यवसाय अथवा वाहनों का बीमा कराया है, उन्हें इस मद से सहायता अनुमन्य न होगी। प्रत्येक सहायता प्राप्त करनेवाले पीड़ित को इस आशय का शपथपत्र देना होगा। वहीं जिलाधिकारी के अनुसार पीड़ितों को दी जानेवाली इस सहायता राशि के चैक तैयार किये गये हैं। इनका शीघ्र ही वितरण कराया जा रहा है।