कांग्रेस ने सिंगापुर भेजा डाटा: भाजपा

इस ख़बर को शेयर करें:

डेटा लीक को लेकर कांग्रेस अब अपने ही आरोपों में फंसती नज़र आ रही है। केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने कल राहुल गांधी को निशाने पर लेते हुए आरोप लगाया कि राहुल गांधी की पार्टी का ऐप लोगों की अनुमति के बिना उनका डाटा सिंगापुर की फर्म के साथ शेयर कर रहा है। इस चौतरफा हमले के बाद कांग्रेस ने प्ले स्टोर से अपना ऐप हटा दिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नमो ऐप के जरिए डेटा चोरी का आरोप लगाने वाली कांग्रेस अब खुद ही फंसती नजर नजर आ रही है । कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों के बाद केंद्र सरकार और बीजेपी की ओर से राहुल गांधी पर जमकर हमला बोला गया है । रविवार को बीजेपी ने एक के बाद एक तमाम ट्वीट करके राहुल गांधी की तकनीकी समझ पर सवाल उठाए थे । सोमवार को केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को निशाने पर लेते हुए ट्विटर पर उऩकी तुलना मशहूर कार्टून चरित्र छोटा भीम से की । उन्होंने ट्विटर पर लिखा – ‘राहुल जी, यहां तक कि छोटा भीम भी जानता है कि ऐप पर पूछी गई सामान्य जानकारी की जासूसी नहीं होती.’

साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि राहुल गांधी की पार्टी का ऐप लोगों की अनुमति के बिना उनका डाटा सिंगापुर की फर्म के साथ शेयर कर रहा है। उन्होंने ट्वीट किया- अब जब हम तकनीक से बात कर रहे हैं, तो राहुल गांधी जी क्या आप जवाब देना चाहेंगे कि क्यों कांग्रेस सिंगापुर सर्वर को डेटा भेजती है, जो किसी टॉम, डिक और एनालिटिका द्वारा एक्सेस किया जा सकता है?

वहीं बीजेपी के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक तस्वीर शेयर की है जिसमें उन्होंने साइट का डिस्क्लेमर शेयर करते हुए कांग्रेस पर लोगों का डाटा तीसरे पक्ष से शेयर करने पर निशाना साधा है । मालवीय ने अपने ट्वीट में लिखा है- ‘Hi! मेरा नाम राहुल गांधी है. मैं देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी का अध्यक्ष हूं। जब आप हमारे आधिकारिक ऐप को साइन अप करेंगे तो हम आप से जुड़ा पूरा डाटा सिंगापुर के दोस्तों को दे देंगे।’

इस चौतरफा हमले के बाद कांग्रेस ने प्ले स्टोर से अपना ऐप हटा दिया है।एप डिलीट होने पर सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी पर निशाना साधा और ट्विटर पर लिखा- ये क्या राहुल जी, ऐसा लगता है कि आप ने जो कहा है उसका ठीक उलटा आपकी टीम कर रही है. नमो ऐप को डिलीट करने के बदले खुद कांग्रेस का ऐप ही डिलीट कर दिया। बीजेपी जहां एप डिलीट करने पर राहुल गांधी से सवाल पूछ रही है कि वो क्या छिपा रही है वहीं कांग्रेस इस मामले पर खुद जवाब देने की बजाए बीजेपी से सवाल कर रही है ।

कांग्रेस के आरोपों पर बीजेपी ने कहा है कि नरेंद्र मोदी एप अलग किस्म का एप है जो बाकी एप से अलग किसी भी यूजर को बिना किसी प्रकार की अनुमति या डेटा के ‘गेस्ट मोड’ में आने की अनुमति देता है। पार्टी के मुताबिक राहुल के झूठ के विपरीत ‘सच्चाई यह है कि इस एप के डाटा का तीसरी पार्टी द्वारा सिर्फ गूगल की तरह विश्लेषण किया जाता है। यह इसिलए होता है ताकि एप का इस्तेमाल करने वाले को सबसे जरुरी सूचनाएं मिल सके।’ साथ ही बीजेपी ने साफ किया कि नमो एप पर दी गयी लोगों की जानकारी पूरी तरह से सुरक्षित है और कांग्रेस इस मामले में भ्रम फैला रही है ।

सोशल मीडिया और एप्स का इस्तेमाल करने वालों का डाटा चुराए जाने को लेकर जारी विवाद के बीच एक्सपर्ट्स ने स्मार्टफोन में बाहरी एप के डाउनलोड करने से जुड़े जोखिमों के लिए भी आगाह किया है । एक्सपर्ट्स का मानना है कि स्मार्टफोन पर इस तरह के’ थर्ड पार्टी एप’ के बारे में सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि ऐसे एप से यूजर्स की अहम जानकारियां साइबर अपराधियों तक पहुंच सकती है ।.जानकारों का कहना है कि कि बहुत सारे गेम अपने यूज़र्स से उनकी फ्रेंड लिस्ट या मैसेज पढ़ने तक की अनुमति मांगते हैं । आमतौर पर लोग इस पर ध्यान नहीं देते लेकिन इसके काफी गंभीर प्रभाव हो सकते हैं । ये पूरा विवाद हाल ही में उस खुलासे के बाद शुरु हुआ जिसमें कहा गया था कि 2016 में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप के लिए काम कर रही फर्म केंब्रिज एनालिटिका ने पांच करोड़ फेसबुक यूज़र्स से जुड़ी जानकारी उनकी सहमति के बिना हासिल की और इस्तेमाल किया।