2018 में प्रदेश में कांग्रेस का परचम  फहरायेगा : अरुण यादव

भोपाल@ नगरीय निकाय चुनावों  में 15 स्थानों पर अपनी धाक जमाने में कांग्रेस सफल रही है। जनता के सामने कांग्रेस भाजपा के भ्रष्टाचार, नोटबंदी, मंदसौर कांड और किसानों की आत्महत्याओं के मुद्दों को भुनाने में कामयाब रही, जिसका परिणाम यह है। कांग्रेस नेताओं में चुनाव को लेकर सक्रियता तेज होती जा रहा है।इसका अंदाजा तो हम अरुण यादव के बयान से ही लगा सकते है, जिसमें उन्होंने कहा है कि वर्ष 2018 में प्रदेश में कांग्रेस का परचम  फहरायेगा ।

बुधवार को जीत के परिणाम आने के बाद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव सभी कार्यकर्ताओं और नेताओं का बधाई दी। और कहा कि इस जीत का श्रेय सभी कार्यकर्ताओं को जाता है, जिन्होंने जी तोड़ कोशिश करके जीत दिलाई है। उन्होंने यह भी कहा कि वर्ष 2018 में होने वाले विधानसभा चुनाव में निश्चित तौर पर कांग्रेस का परचम फहरायेगा।इन चुनावों में प्रदेश सरकार के मुखिया शिवराज सहित काबीना के कई मंत्रियों ने धनबल, बाहुबल और प्रशासनिक तंत्र का पूरी तरह दोहन किया है। यही नहीं मुख्यमंत्री ने 6 दिनों तक लगातार 27 क्षेत्रों में रोड शो और आमसभाएं लेकर भाजपा के पक्ष में मतदान कराए जाने का सरकारी मशीनरियों पर भी पूरा दबाव बनाया। इसके बावजूद इन 27 में से 15 स्थानों पर कांग्रेस की विजय पताका लहराई है।आगे यादव ने कहा कि लगभग सभी बड़े निकायों पर कांग्रेस का कब्जा हुआ है, मुख्यमंत्री के जिले से संबद्ध शमशाबाद, काबीना मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन, ओमप्रकाश धुर्वे, गौरीशंकर शेजवार और सूर्यप्रकाश मीणा के क्षेत्रों में उन्हें पराजय का स्वाद चखना पड़ा है। 4 स्थान छनेरा, रानापुर, अलीराजपुर और नेपानगर में कांग्रेस पार्टी सिर्फ 50 से 200 वोटों के अंतर से हारी है, जिसमें सरकार की पूरी प्रतिष्ठा लगी हुई थी। अलीराजपुर नगर पालिका परिषद कांग्रेस ने 113 वोटों से जीती है। भीकनगांव नगरपालिका परिषद मात्र 260 वोटो से हारी है।