गुजरात के मंत्री के बेटे के साथ बहस करने वाली कॉन्स्टेबल बोलीं- दे चुकी हूं इस्तीफा

सूरत। लॉकडाउन उल्लंघन को लेकर गुजरात के मंत्री के बेटे के साथ बहस करने वाली कॉन्स्टेबल सुनीता यादव ने बुधवार को कहा कि उन्होंने त्यागपत्र दे दिया है। उन्होंने कहा, ”मुझे वरिष्ठ अधिकारियों का सहयोग नहीं मिला…मैं कॉन्स्टेबल के तौर पर अपना काम कर रही थी…यह हमारी व्यवस्था का दोष है कि…ऐसे लोग खुद (मंत्री का बेटा) को वीवीआईपी समझते हैं।’

गुजरात के एक मंत्री के बेटे को लॉकडाउन के उल्लंघन को लेकर आड़े हाथों लेने वाली पुलिस कांस्टेबल सुनीता यादव ने बुधवार को दावा किया कि उन्होंने त्यागपत्र दे दिया है। यादव की कार्रवाई पर मंत्री के बेटे को गिरफ्तार कर लिया गया था।

हालांकि पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यादव के इस्तीफा देने की बात से इनकार किया है। सूरत के पुलिस आयुक्त आर बी ब्रह्मभट्ट ने कहा, ”उन्होंने इस्तीफा नहीं दिया है। पूछताछ अभी भी जारी है। तकनीकी रूप से फिलहाल वह इस्तीफा नहीं दे सकतीं।” मंत्री के बेटे के खिलाफ कार्रवाई करने पर सोशल मीडिया पर तारीफ पाने वालीं यादव ने समाचार चैनलों को बताया कि उन्होंने त्यागपत्र दे दिया है।

यादव ने कहा, ”मुझे मेरे वरिष्ठ अधिकारियों से सहयोग नहीं मिला, लिहाजा मैंने इस्तीफा दे दिया। मैं एक सिपाही के तौर पर अपना काम कर रही थी। यह हमारी व्यवस्था का दोष है कि ऐसे लोग (मंत्री के बेटे जैसे) सोचते हैं कि वे वीवीआईपी (अति विशिष्ट लोग) हैं।”

यादव की कार्रवाई पर सूरत शहर में लॉकडाउन और रात्रि कर्फ्यू के कथित उल्लंघन को लेकर गुजरात के मंत्री कुमार कनाणी के बेटे प्रकाश और उसके दो दोस्तों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुई थी और उनकी गिरफ्तारी भी हुई थी।