देश में कोरोना का कहर: 24 घंटे में 97,570 मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 46 लाख के पार, 77 हजार से ज्यादा लोगों की हो चुकी है मौत

देश में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. भारत में कोरोना वायरस से 46 लाख 59 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं वहीं, अब तक 77 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. शनिवार सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry Of Health) की तरफ से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटों में देश में कोरोना के रिकॉर्ड 97 हजार 570 मामले दर्ज किए गए हैं.

वहीं, इस दौरान 1,201 इस जानलेवा वायरस से शिकार बने हैं. इसके साथ ही देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 46,59,985 पहुंच गया है. भारत में अभी फिलहाल 9,58,316 एक्टिव मामले हैं वहीं, 36,24,197 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं.

बता दें कि देश में महाराष्ट्र कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है. यहां संक्रमितों का आंकड़ा 10 लाख के पार पहुंच चुका है वहीं, अब तक 18 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. महाराष्ट्र के बाद आंध्र प्रदेश का नंबर आता है, जहां संक्रमितों का आंकड़ा 5 लाख 47 हजार के पार पहुंच चुका है और अब तक इस जानलेवा वायरस से 4700 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

बता दें कि 11 सितंबर को 10,91,251 कोरोना सैंपल टेस्ट किए गए. अभी तक कुल 5,51,89,226 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं. देश के लगभग सभी राज्यों से कोरोना मरीज सामने आ रहे हैं.

उधर, भारत में अक्टूबर के पहले सप्ताह में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले 70 लाख के पार हो जाने और देश में संक्रमित लोगों की कुल संख्या अमेरिका समेत दुनिया भर में सर्वाधिक हो जाने की आशंका है. बिट्स पिलानी, हैदराबाद के अनुसंधानकर्ताओं के दल के अध्ययन में यह बात सामने आई है.

बिट्स पिलानी के हैदराबाद परिसर में ‘ऐप्लाइड मैथेमैटिक्स’ विभाग की डॉ. टीएसएल राधिका ने बताया कि यह दल उन्नत सांख्यिकीय तकनीक के जरिए भारत में कोविड-19 वैश्विक महामारी संबंधी पूर्वानुमान जता रहा है. इस टीम का नेतृत्व भी राधिका कर रही हैं.

टीम ने अपने अध्ययन का निष्कर्ष ‘इंटरनेशनल जर्नल ऑफ इन्फेक्शियस डिजीजेस’ को हाल में भेजा है. राधिका ने कहा कि अध्ययन के निष्कर्ष में सामने आया है कि भारत में अक्टूबर के पहले सप्ताह तक कोरोना वायरस संक्रमण के मामले देश में सर्वाधिक हो सकते हैं और इनके अमेरिका के मामलों से भी अधिक हो जाने की आशंका है. उन्होंने बताया कि उस समय तक संक्रमण के मामलों की कुल संख्या 70 लाख से अधिक हो जाने की आशंका है.