साइबर क्राइम : अब साइबर ठग भी बदल रहे हैं अपना ठगी का तरीका

नया तरीका – ई सिम अपग्रेड
हेलो सर , मैं …… इस मोबाइल कंपनी के कस्टमर सर्विस सेंटर से बोल रही हूं .. आपके मोबाइल सिम कार्ड की वैधता समाप्त हो रही है , अगर आप चाहते हैं की वो बंद नहीं हो , इसके लिए आपको अपना मोबाइल सिम को अपग्रेड कराना होगा, नहीं तो कार्ड बंद हो सकता है”।

बहुत सारे लोग ऐसे लोगों के चंगुल में फंस जाते है और अपना पैसा गवां देते है। इस तरह के साइबर फ्राड कॉल पिछले कुछ समय से दिल्ली -एनसीआर समेत पंजाब , बिहार , बंगाल , झारखंड समेत कई राज्यों के लोगों को मिल रहे है। अब साइबर ठग भी अपना ठगी का तरीका बदल रहे हैं।

दिल्ली पुलिस की साइबर सेल के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक वो लोग अब ई-सिम अपग्रेड के नए कांसेप्ट के साथ फर्जीवाडे को अंजाम दे रहे है। साइबर ठगी के पिछले एक महीने के दौरान कई मामले दिल्ली -एनसीआर में दर्ज हो चुके है।

पहले साइबर ठग कॉल करके आपका डेबिड कार्ड या क्रेडिट कार्ड का 16 डिजिट का नंबर और उससे संबंधित अन्य जानकारियों को लेने के बाद चंद मिनटों के अंदर ही आपका सारा बैंक बैलेंस या कार्ड में पैसे को खत्म करके चूना लगा देते थे लेकिन उसको लेकर लोग अब जागरूक है।

लेकिन ई सिम अपग्रेड के नए कांसेप्ट से लोग अभी पूरी तरह जागरूक नहीं है। हाल में ही फरीदाबाद की पुलिस ने झारखंड स्थित जामताड़ा के रहने वाले चार आरोपियों को गिरफ्तार किया था जो ई सिम अपग्रेड के नाम पर पिछले कुछ समय में करीब 300 लोगों को ठग चुके है। झारखंड के जामताड़ा साइबर क्राइम का मुख्य अड्डा रहा है। इस लिए अगर अब अगर कोई आपके पास फोन करके ई सिम अपग्रेड की बात करे तो सचेत हो जाएं।