Skip to content

मुंबई के कई इलाकों में छा गया अंधेरा, सांताक्रूज-बांद्रा सहित कई जगहों में बिजली सप्लाई ठप होने से लोग नाराज

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:


मुंबई के कई इलाकों में सोमवार की शाम को अंधेरा छा गया, जब एक ट्रांसमिशन लाइन में तकनीकी खराबी आने के कारण कई इलाकों में बिजली गुल हो गई. इसे लेकर स्थानीय लोगों में नाराजगी देखी गई. मुंबई के मुख्य इलाकों- खार, कुर्ला, सांताक्रूज और मुंबई के सबसे पॉश इलाके बांद्रा में भी बिजली कट गई. बिजली कटौती से आम लोग बेहद नाराज नजर आए और उन्‍होंने सोशल मीडिया के जरिये अपना गुस्‍सा जाहिर किया. बीएमसी और अडानी इलेक्ट्रिसिटी को निशाना बनाकर लोगों ने जमकर ट्वीट किया.

15 मिनट से ज्यादा कटी बिजली, छा गया अंधेरा
मुंबई के बांद्रा, सांताक्रूज, खार, कुर्ला और चेंबूर जैसे उपनगरों और दादर जैसे मध्य मुंबई के कई पॉकेट्स में 21:30 बजे से शुरू होकर 15 मिनट से अधिक समय तक बिजली कटने की सूचना मिली. इसके साथ ही वडाला, सायन और धारावी के कुछ हिस्सों में भी बिजली गुल होने की खबर मिली. इस बिजली कटौती के पीछे धारावी में स्थित टाटा के रिसीविंग स्टेशन में तकनीकी खराबी को कारण बताया गया था. टाटा पावर ने अपने एक बयान में कहा कि यह महज सात मिनट के लिए एक छोटी सी बिजली कटौती थी.

टाटा-अडानी इलेक्ट्रिसिटी के बीच आरोप-प्रत्यारोप
अडानी इलेक्ट्रिसिटी मुंबई ने कहा कि इस बिजली कटौती से सेवा देने वाले 1.8 लाख उपभोक्ता प्रभावित हुए क्योंकि प्रतिद्वंद्वी टाटा पावर के उपकरण धारावी रिसीविंग स्टेशन पर विफल हो गए थे. टाटा पावर ने महाराष्ट्र स्टेट इलेक्ट्रिसिटी ट्रांसमिशन कंपनी पर दोष मढ़ने की कोशिश की, यह दावा करते हुए कि बिजली ट्रिपिंग लगभग 7 मिनट तक चली.

टाटा पावर कंपनी (टीपीसी) के एक बयान में कहा गया है. “ ट्रॉम्बे रिसीविंग स्टेशन पर 220kV MSETCL OLTS प्रोटेक्शन के ट्रिपिंग के कारण, टाटा पावर के धारावी रिसीविंग स्टेशन पर 160MW लोड को शटडाउन करने के कारण आज बहुत कम समय (लगभग 7 मिनट) के लिए बिजली आउटेज की घटना हुई. हालांकि, टाटा पावर द्वारा बिजली आपूर्ति जल्दी बहाल कर दी गई. बिजली ट्रिपिंग 2130 बजे हुई और इसे आज यानी 9 मई 2022 को 2137 बजे बहाल कर दिया गया,”

हीट वेव के कारण बढ़ गई है बिजली की खपत
बता दें कि लगभग दस दिन पहले, राज्य द्वारा संचालित बृहन्मुंबई इलेक्ट्रिक सप्लाई एंड ट्रांसपोर्ट (BEST) ने कहा था कि राज्य में चल रही हीटवेव के कारण बिजली की खपत ज्यादो हो रही है. बिजली की अतिरिक्त मांग हो रही है, जिसके परिणामस्वरूप आपूर्ति बाधित हो रही है. हम बिजली की मांग के साथ तालमेल नहीं बैठा पा रहे हैं.

“तापमान में बड़ी वृद्धि के कारण, लोग एसी और पंखे का अधिक उपयोग कर रहे हैं, जिसके परिणामस्वरूप अचानक बिजली की भारी मांग और खपत हो रही है.”