पुरानी रंजिश पर जानलेवा हमलावर आरोपी गिरफ्तार , घटना में प्रयुक्त देशी 1 पिस्टल एवं 2 कारतूस जप्त

जबलपुर। थाना गढ़ा में दोपहर में केबीएम चैक सांई पैलेस के पास रोड किनारे गोली चलने की सूचना पर पहुंची पुलिस द्वारा घायल  रतन बर्मन को उपचार हेतु  मेडीकल काॅलेज में भर्ती करया गया, रतन बर्मन उम्र 25 वर्ष निवासी  बदनपुर शक्तिनगर ने बताया था कि वह केबीएम चैक साई पैलेस के पास रोड किनारे चाय का ठेला लगाता है  दोपहर लगभग 1-30 बजे अपने चाय के ठेले पर था   सिद्धांत , सागर एवं दीपक चक्रवर्ती एक राय होकर उसे जान से मारने की नियत से उसकी दुकान पर आये तथा बगैर कुछ बोले ही सिद्धांत ने पिस्टल से उसके ऊपर फायर किया गोली उसे नहीं लगी तो वह शक्ति नगर तरफ भागा, सिद्धांत ने उसके ऊपर पिस्टल से पुनः फायर किया जो गोली उसके दाहिने तरफ कमर में लगी तो तीनों लोग केबीएम चैक की तरफ भाग गये, वह दौडकर अपने घर  पहुंचा,  डायल 100 नम्बर पर पुलिस को सूचना दी, सूचना पर पहुची पुलिस द्वारा मेडीकल काॅलेज में भर्ती कराया गया हैं सागर, दीपक एवं सिद्धांत चक्रवर्ती ने उसे उसके भाई नीतेश बर्मन  से चल रहे पुराने विवाद तथा पुरानी रिपोर्ट करने के कारण  मारा है  । रिपोर्ट पर धारा 307, 34 भादवि एवं 25/27 आम्र्स एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अति. पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण डाॅ. संजीव उइके एवं  अति. पुलिस अधीक्षक अपराध गोपाल खाण्डेल तथा नगर पुलिस अधीक्षक गढा रोहित काशवानी (भा.पु.से.)  द्वारा थाना प्रभारी गढा राकेश तिवारी के नेतृत्व में आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु  टीम गठित की गयी।

गठित टीम द्वारा पतासाजी करते हुये प्रकरण के मुख्य आरोपी सिद्धांत चक्रवर्ती उम्र 22 वर्ष निवासी सैनिक सोसायटी दानवबाबा को आज दिनाॅक 31-8-2020 को विश्वसनीय मुखबिर की सूचना पर उस वक्त जब घर आया हुआ था घेराबंदी कर पकड़ा गया है  आरोपी की निशादेही पर घटना में प्रयुक्त देशी पिस्टल एवं 2 कारतूस पूजा वाले कमरे में अलमारी के अंदर कपडों के बीच छिपा रखी थी, जप्त करते हुये शेष फरार 2 आरोपियों की सरगर्मी से तलाश जारी है।  

उल्लेखनीय भूमिका– पतासाजी कर आरोपी को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी गढा श्री राकेश तिवारी, उप निरीक्षक विनय बुंदेला, आरक्षक सचिन मेहरा, अश्वनी द्विवेदी, शिवेन्द्र तिवारी तथा क्राईम ब्रांच के प्रधान आरक्षक धनंजय सिंह, विजय शुक्ला, मोहित उपाध्याय, ब्रजेन्द्र कसाना की सराहनीय भूमिका रही।