पंडित दीनदयाल उपाध्याय सोलर स्ट्रीट लाइट योजना को लागू करने का निर्णय लिया गया

प्रदेश के समस्त #विकासखण्डों के एक या दो मुख्य बाजारों में #सामुदायिक पथ प्रकाश की व्यवस्था, #सोलरस्ट्रीटलाइट संयत्रों के माध्यमों से किये जाने हेतु #पंडितदीनदयालउपाध्याय #सोलरस्ट्रीटलाइटयोजना के क्रियान्वयन का निर्णय लिया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सामुदायिक पथ प्रकाश एक मूल-भूत आवश्यकता है। प्रदेश के समस्त विकास खण्डों के मुख्य बाजारों में विद्युत की आपूर्ति में बाधा अथवा प्रकाश की व्यवस्था अपर्याप्त होने के कारण सांयकाल से देर रात्रि तक जनसामान्य को आवागमन में कठिनाई, दैनिक कार्य-कलाप के क्रियान्वयन में बाधा उत्पन्न होती है। पं0 दीनदयाल उपाध्याय सोलर स्ट्रीट संयत्र के माध्यम से मुख्य बाजारों में प्रकाश/पथ प्रकाश की व्यवस्था होने पर सामाजिक परिवेश में कार्य क्षमता में वृद्धि, सुरक्षा, कुटीर उद्योगों में वृद्धि से जनसामान्य की आय में वृद्धि, स्वच्छ वातावरण का निर्माण एवं जनसामान्य में योजना के प्रचार-प्रसार के साथ-साथ पर्यावरण अनुकूल हरित ऊर्जा के प्रति जागरूकता उत्पन्न होगी।

नेडा द्वारा यह भी जानकारी दी गयी है कि एल0ई0डी0 आधारित सोलर स्ट्रीट लाइट संयत्र में 75 वाट पीक क्षमता का सोलर माड्यूल, 12 वोल्ट 75 एम्पियर घण्टा की लेड एसिड ट््यूबलर पाजिटिव प्लेट, लो-मेन्टिनेन्स बैटरी, 12 वाट क्षमता की एल0ई0डी0 आधारित ल्यूमिनरी, 05 मीटर लम्बाई का जी0आई0 पोल, बैटरी बाक्स, इलेक्ट्रानिक्स केबिल एवं आवश्यक हार्डवेयर होते हैं। पं0 दीनदयाल उपाध्याय सोलर स्ट्रीट लाइट संयत्रों की स्थापना से सार्वजनिक बाजार में सांयकाल से सुबह होने तक स्वतः पथ प्रकाश (आटोमेटिक स्ट्रीट लाइटिंग) की व्यवस्था उपलब्ध होगी।