देश के 4 सरकारी बैंक हो सकते हैं प्राइवेट, फंड की कमी को लेकर फैसला!

केंद्र की मोदी सरकार ने देश के कम से कम 4 बड़े सरकारी बैंकों की हिस्सेदारी बेचने का फैसला किया है. केंद्र सरकार बजटीय खर्च के लिए फंड जुटाने के लिए ये कदम उठा रही है. खबर है कि सरकार की नजर पंजाब एंड सिंध बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, यूको बैंक और IDBI बैंक पर है.

केंद्र सरकार बैंकों के साथ सरकारी कंपनियों का निजीकरण करके फंड जुटाना चाहती है. इसी को देखते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय ने अधिकारियों से कम से कम चार सरकारी बैंकों में सार्वजनिक हिस्सेदारी कम करने की प्रक्रिया में तेजी लाने को कहा है.

उनसे कहा गया है कि इस प्रक्रिया को इसी वित्त वर्ष में पूरा किया जाना चाहिए. बता दें कोरोना संकट को देखते हुए लगाए गए लॉकडाउन के कारण ठप हुईं आर्थिक गतिविधियों की वजह से सरकार के राजस्‍व में जबरदस्‍त कमी दर्ज की गई है.