UP: 50 हजार का इनामी दीपक गुप्ता भदोही पुलिस से मुठभेड़ में ढेर
इस ख़बर को शेयर करें

वाराणसी की जेल से फरार 50 हजार का इनामी दीपक गुप्ता भदोही में पुलिस और स्वाट टीम से मुठभेड़ में ढेर हो गया। सुरियावां के चकिया त्रिमुहानी पर हुई मुठभेड़ में उसका दूसरा साथी फरार हो गया। भदोही के स्वाट प्रभारी अजय सिंह के पैर में भी गोली लगी है। एक कांस्टेबल भी बदमाश की गोली से बाल बाल बचा है। उसकी बुलेट प्रूफ जैकेट में गोली लगी। मारे गए बदमाश पर भदोही के अलावा वाराणसी और अंबेडकर नगर में हत्या, लूट और हत्या के प्रयास के कुल 17 मुकदमे दर्ज हैं।

पुलिस के अनुसार बदमाशों पर हो रही कार्रवाई के क्रम में एक टीम सोमवार की आधी रात हिस्ट्रीशीटर रामसुंदर मौर्या के यहां दबिश देने जा रही थी। इसी दौरान उनके आगे चल रही एक बाइक से जा रहे दो बदमाश पुलिस टीम को देखकर सनाथपुर की ओर तेजी से मुड़े और गिर पड़े। पुलिस टीम उन्हें उठाने गई तो गोली चलाने लगे। पुलिस ने भी संभलते हुए गोली चलानी शुरू की। इसमें एक बदमाश ढेर हो गया। उसका साथी अंधेरे का फायदा उठाकर पैदल ही फरार हो गया।

गोली से घायल स्वाट प्रभारी को जिला अस्पताल ज्ञानपुर में भर्ती कराया गया है। पुलिस के अनुसार सुरियावां के चौक बाजार निवासी दीपक गुप्ता उर्फ कल्लू उर्फ रवि उर्फ बच्ची को 2012 में पहली बार गिरफ्तार कर ज्ञानपुर जेल में रखा गया था। यहां से फर्जी जन्मप्रमाण पत्र लगाकर वाराणसी के रामनगर स्थित बच्चों के जेल (बाल सुधार गृह) पहुंच गया। वहां से 2013 में फरार हो गया था।

तभी से पुलिस के हाथ नहीं लगा और लगातार अपराध में संलिप्त रहा। उसके ऊपर भदोही में 25 हजार, अंबेडकर नगर में 15 हजार और वाराणसी में 10 हजार का इनाम घोषित किया गया। बदमाश के पास से एक रिवाल्वर, एक देसी तमंचा और कई कारतूस मिले हैं। एनकाउंटर की जानकारी मिलने पर आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। फरार हो गए दूसरे बदमाश की तलाश के लिए घेरेबंदी की गई। लेकिन सुबह तक उसका कोई सुराग नहीं लग सका था।