जर्मनी में गहराया राजनीतिक संकट

इस ख़बर को शेयर करें:

जर्मनी में नई सरकार बनाने को लेकर चल रही उच्च स्तरीय बातचीत उद्योग समर्थित पार्टी एफडीपी के अलग होने के कारण टूट गई. इससे यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था राजनीतिक संकट में आ गई है.

पिछले कुछ हफ्तों से अस्थाई सरकार की वजह से जर्मनी कोई साहसी नीतिगत फैसला नहीं ले पा रहा है. देश को इस मुश्किल से बाहर निकालने का सारा दारोमदार एक बार फिर चांसलर एंजेला मर्केल पर आ गया है.

कोई दूसरे संभावित गठबंधन की गुंजाइश नजर नहीं आ रही और ऐसे में जर्मनी एक बार फिर समय पूर्व चुनाव का सामना करने के लिए मजबूर हो सकता है. इसमें भी सितंबर में हुए चुनावों की तरह किसी को पूर्ण गठबंधन नहीं मिलने का जोखिम है.