दिल्ली: 84 साल बाद 31 मार्च को बंद हो जाएगा रीगल सिनेमा

दिल्ली के कनॉट प्लेस का एतिहासिक रीगल सीनेमा 31 मार्च के बाद इतिहास के पन्नो में दर्ज हो जाएगा । रीगल सिनेमा की ढांचागत सुरक्षा को लेकर इसे 31 मार्च से बन्द किया जा रहा है । अपने दौर की कई कहानियां और एतिहासिकता से जुड़े इस सिनेमा घर में फिल्में देखने के लिये अपने ज़माने के कई दिग्गज अभिनेता और राजनेता आया करते थे ।

साल 1932 से एक सुनहरे दौर को समेटे रीगल में आखिरी शो संगम फिल्म का होगा । एक दौर में ये थिएटर नई दिल्ली का ‘प्रीमियर’ थियेटर कहलाता था । इसके बन्द होने के एलान के बाद से लोगों में निराशा है ।

परिवर्तन प्रकृति का नियम है और समय के साथ बदलना जरूरी भी है लेकिन ऐतिहासिकता की हिफाजत भी जरूरी है । इसी के मद्देनजर ज्यादा बदलाव किये बिना इसे फिर से मल्टीप्लेक्स बनाने की बात हो रही है। आजादी से पहले और आजादी के बाद के मनोरंजन के उस दौर को जिसने भी देखा है उसकी यादों को भुलाना आसान नही होगा ।

वास्तुकार वाल्टर एस जार्ज के डिजाइन से सजे रीगल सिनेमा के बंद होने के साथ ही सिंगल स्क्रीन का एक अध्याय खत्म हो जाएगा। देश में मल्टीप्लेक्स के आने के बाद बहुत कम संख्या में ही सिंगल स्क्रीन बचे हैं। रीगल का बन्द होना जैसे एक युग का अंत हो ।