प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में तीन करोड़ रूपए के ऋण वितरित

इस ख़बर को शेयर करें:

जबलपुर @ प्रधानमंत्री मुद्रा योजना और स्टैण्डअप इण्डिया योजना के सिलसिले में सेंट्रल बैंक द्वारा नगर निगम जबलपुर के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में इन योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। इस मौके पर सेन्ट्रल बैंक ऑफ इण्डिया के क्षेत्रीय प्रबंधक ने मुद्रा योजना में 40 हितग्राहियों को तीन करोड़ रूपए के ऋण भी वितरित किए।

बैठक में अग्रणी जिला प्रबंधक पी.पी. सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अन्तर्गत छोटे उद्यमियों को व्यापार के लिए ऋण मुहैया कराया जाता है। योजना के जरिए छोटे उद्यमियों को 10 लाख रूपए तक के ऋण दिए जाते हैं। इसके लिए शिशु, किशोर तथा तरूण श्रेणियां बनाई गई हैं जिनमें क्रमश: 50 हजार, 5 लाख तथा 10 लाख रूपए तक के ऋण दिए जाते हैं। सिंह ने योजना की पात्रता शर्तों पर भी प्रकाश डाला। योजना के तहत बिना गारंटी एवं बंधक के बैंक द्वारा ऋण प्रदाय किया जाता है। बैठक में बताया गया कि सैलून, ब्यूटी पार्लर, मोटर साइकिल रिपेयरिंग, लघु उद्योग तथा प्रोफेशनल्स को योजनान्तर्गत ऋण दिया जाता है।

स्टैण्डअप इण्डिया योजना में बैंक शाखाओं द्वारा 10 लाख रूपए से एक करोड़ रूपए तक के ऋण महिला उद्यमियों अथवा अनुसूचित जाति व जनजाति के हितग्राहियों को मुहैया कराए जाते हैं। सम्बन्धित कारोबार निर्माण सेवा या व्यापार क्षेत्र से सम्बन्धित होना चाहिए। बैठक में स्टैण्डअप इण्डिया ऋण योजना के पात्रता मानदण्डों, आवेदन प्रक्रिया तथा जरूरी दस्तावेज के बारे में भी जानकारी दी गई।

बैठक में महाप्रबंधक जिला उद्योग एवं व्यापार केन्द्र देवव्रत मिश्रा ने शासन की विभिन्न योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी। व्यापारी संघ के श्री प्रवीण जैन ने व्यवसायियों द्वारा बैंक से लिए गए ऋण का समय पर भुगतान सुनिश्चित किए जाने को कहा। साथ ही उन्होंने बैंकों से ऋण लेने में होने वाली दिक्कतों का भी जिक्र किया। बैठक में सम्बन्धित विभागों के अधिकारी, बैंकर्स तथा बड़ी संख्या में हितग्राही उपस्थित थे।