देश के कई हिस्सों में डेंगू, चिकुनगुनिया के मामलों में बढोतरी

पूरे देश में जहां एक ओर बारिश लोगों को उमस से राहत पहुंचा रही है, वहीं दूसरी ओर परेशानी का सबब भी बनने लगी है। बारिश की वजह से पूरे देश में डेंगू के 28 हज़ार और चिकुनगुनिया के 18 हज़ार से ज़्यादा मामले सामने आ चुके हैं। राजधानी दिल्ली में भी डेंगू, चिकुनगुनिया और मलेरिया के मामलों में तेज़ी से बढोतरी हुई है।

पूरे देश के लिए जुलाई का महीना डेंगू, चिकुनगुनिया और मलेरिया के हिसाब से परेशानी भरा साबित हुआ। स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक पूरे देश में अब तक डेंगू के 28 हज़ार और चिकुनगुनिया के 18 हज़ार से ज़्यादा मामले दर्ज किए गए हैं। डेंगू से अब तक पूरे देश में 46 मौतें हुई हैं। सबसे ज़्यादा दक्षिण के राज्य प्रभावित हैं।

केरल में 13 हज़ार, तमिलनाडु में 5 हज़ार, कर्नाटक में 4 हज़ार, गुजरात में 700, पश्चिम बंगाल में 500, महाराष्ट्र में 500 और दिल्ली में 237 से अधिक डेंगू के मामले दर्ज़ किए गए हैं। वहीं कर्नाटक में 10 हज़ार, महाराष्ट्र में 1300, गुजरात में 2200, आंध्र प्रदेश में 800, दिल्ली में 220 मामले चिकुनगुनिया के दर्ज़ किए गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय का मानना है कि थोड़ी जल्दी और रुक-रुक कर हो रही बारिश की वजह से ज़्यादा मामले सामने आए हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि लोग सावधानी बरतें और अपने घर के आस-पास पानी जमा न होने दें और सतर्क रहें, तो डेंगू और चिकुनगुनिया से बचा जा सकता है। डेंगू, चिकुनगुनिया के मच्छर साफ़ पानी में पनपते हैं, ये मच्छर दिन में काटते हैं, सुबह और शाम के वक़्त इन मच्छरों के काटने ख़तरा ज़्यादा होता है। जाहिर है आप अपने घर के आस-पास पानी जमा ना होने दें और कूलर, प्लास्टिक के कप, डिब्बों में पानी इकट्ठा न होने दें। क्योंकि मच्छर का लार्वा इन्हीं जगहों पर पनपता है।