आंध्र प्रदेश में रायगढ़ के पास जगदलपुर-भुवनेश्वर हीराखंड एक्सप्रेस पटरी से उतरी

नई दिल्ली: आंध्र प्रदेश के विजयनगरम जिले में कुनेरू रेलवे स्टेशन पर कल रात 11.15 मिनट पर रायगढ़ के पास जगदलपुर-भुवनेश्वर हीराखंड एक्सप्रेस पटरी से उतर गई। यह दुर्घटना रायगढ़-विजयनगरम खंड पर हुई। दुर्घटना स्थल ओडिशा और आंध्र प्रदेश की सीमा पर है और ओडिशा के रायगढ़ कस्बे के निकट है। दुर्घटना स्थल पूर्वी तटीय रेलवे के वाल्टेयर डिवीजन के अंतर्गत आता है। इस दुर्घटना में रेल के एक वातानुकूलित तृतीय श्रेणी कोच, एक वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी कोच सहित चार स्लीपर क्लास, दो साधारण द्वितीय श्रेणी के कोच और एक यात्री एवं सामान कोच को मिलाकर कुल 9 कोच पटरी से उतर गए।

उपलब्ध सूचना के अनुसार, इस दुर्घटना में 36 यात्रियों की मृत्यु हो गई है और 23 यात्री घायल हैं जिनमें से 7 की हालत गंभीर बनी हुई है। घायलों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। हल्की चोट लगने वाले यात्रियों को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। चिकित्सा राहत रेल को दुर्घटना स्थल पर भेज दिया गया है। एंबुलेंसों की व्यवस्था की गई है और एनडीआरएफ टीमें भी राहत और बचाव अभियान के लिए दुर्घटनास्थल पर पहुंच गई है।

रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु ने मासूम लोगों की मृत्यु पर गहरा दु:ख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि यह एक दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना है। उन्होंने मृतकों के परिजनों के लिए 2 लाख रूपये, गंभीर रूप से घायलों के लिए 50 हजार रूपये और मामूली रूप से घायल यात्रियों के लिए 25 हजार रूपये की अनुग्रह राशि की घोषणा की है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय के तहत दक्षिण मध्य सर्किल के रेलवे सुरक्षा आयुक्त (सीआरएस) श्री राम कृपाल की देखरेख में इस दुर्घटना में वैधानिक जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभाकर प्रभु, रेल बोर्ड के चेयरमैन श्री ए.के. मित्तल के साथ दुर्घटना स्थल के लिए रवाना हो गए हैं। इससे पूर्व, रेल बोर्ड के रोलिंग स्टॉक के सदस्य श्री रविन्द्र गुप्ता और अभियांत्रिकी रेल बोर्ड के सदस्य श्री आदित्य कुमार मित्तल भी घटनास्थल के लिए रवाना हो चुके हैं।

इस दुर्घटना से प्रभावित हुए यात्रियों को बाद में रायगढ़-संबलपुर से होते हुए कुनेरू से भुवनेश्वर के माध्यम से अपने-अपने गंतव्यों की ओर रवाना कर दिया गया। इसके अलावा संबलपुर, ब्रह्मपुर, भवानीपटना आदि कम दूरी के स्थलों के 13 बसों से भी यात्रियों को भेजा गया। रेल प्रशासन ने फंसे हुए यात्रियों के लिए जलपान की व्यवस्था भी की है। इस दुर्घटना के कारण रायगढ़-विजयनगरम खंड पर रेल यातायात प्रभावित होने से अन्य रेलों का मार्ग बदला गया है और इस खंड से होकर गुजरने वाली कुछ रेलों को रद्द करने की अधिसूचना संबंधित क्षेत्रीय रेलवे द्वारा अधिसूचित की जा रही है।

ईस्ट कोस्ट रेलवे के महाप्रबंधक, श्री उमेश सिंह सहित अन्य वरिष्ठ रेल अधिकारी और वाल्टेयर डिवीजन की रेल प्रबंधक श्रीमती चंद्रलेखा मुखर्जी राहत और बचाव कार्य की निगरानी के लिए दुर्घटना स्थल पर उपस्थित हैं। इस रेल के मार्ग पर आने वाले महत्वपूर्ण स्टेशनों पर हेल्पलाइन नंबर प्रदान किए गए हैं।