सशस्त्र बदमाशों को धार पुलिस ने धरदबोचा
  • गोल्डन टीवीएस शोरूम, कुक्षी के मालिक व उसके बेटे को जान से मारने की फोन पर धमकी देकर 10 लाख रूपये की फिरौती मांगने वाले 04 सशस्त्र बदमाशों को धार पुलिस ने धरदबोचा।
  • चारों आरोपियों के कब्जे से 02 देशी पिस्टल, 02 बारह बोर देशी कट्टे, जिंदा कारतूस, घटना में प्रयुक्त सेन्ट्रो कार, 01 मोटर सायकल, 06 मोबाइल एवं फिरौती के नगदी 03 लाख रूपये कुल 8 लाख रूपये की मश्रुका जप्त।
  • ’रंगबाज वेब सिरीज’’ से प्रेरित होकर नवयुवक बदमाशों ने बनाया था फिरौती मांगने का प्लान। मौज-मस्ती की शौक में आरोपीगणों पर हो गए कर्ज को चुकाने के लिए दिया था आरोपियों ने घटना को अंजाम।

धार। कुक्षी स्थित गोल्डन टीवीएस वाहन शोरूम के मालिक अमित पिता सुरेशचंद्र गुप्ता निवासी कुक्षी ने थाना कुक्षी आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसके पिता सुरेश चंद्र गुप्ता के मोबाईल नम्बर पर पिछले कुछ दिनों से कोई अज्ञात व्यक्ति धमकी भरे फोन लगाकर बोल रहा है कि हमें 10,00,000/- रू. दो, अन्यथा हम तुम दोनो पिता-पुत्र को तुम्हारी दुकान पर बंदुक की गोलिया चलवाकर जान से खत्म करवा देंगे। लगातार 3, 4 बार उक्त मोबाइल से धमकी भरा फोन आने से फरियादी का परिवार भयभीत हो गया, फरियादी की रिपोर्ट पर से फिरौती के लिए आए मोबाईल नम्बर 9589258312 के धारक(अज्ञात) के विरूद्ध थाना कुक्षी में अपराध क्रमांक 66/2020 धारा 384, 387, 388, 507 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

मामले की गंभीरता के देखते हुए पुलिस अधीक्षक धार महोदय श्री आदित्य प्रताप सिंह ने फिरोती मांगने वाले अज्ञात आरोपियों की धड़पकड़ हेतु अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धार श्री देवेन्द्र पाटीदार के निर्देशन में एसडीओपी कुक्षी श्री मनोहर सिंह बारिया, थाना प्रभारी कुक्षी श्री कमल सिंह पंवार एवं क्राईम/सायबर ब्रांच प्रभारी संतोष कुमार पाण्डेय को उचित कार्यवाही हेतु लगाया गया था।

इसी तारम्मय में थाना पुलिस कुक्षी एवं क्राईम/सायबर ब्रांच द्वारा संयुक्त कार्यवाही करते हुए फरियादी के पिता सुरेश गुप्ता के मोबाईल पर फिरोती के लिए आए मोबाईल नम्बर 9589258312 की जांच हेतु धार सायबर सेल टीम को सक्रिय किया, जिसमें पाया गया कि आरोपीयान फरियादी को अलग-अलग स्थान जैसे इन्दौर, महू, कनाडिया, देवगुडाडिया एवं पीथमपुर से मोबाईल लगा रहे है, एवं फोन काल करने के उपरांत मोबाईल बंद कर लेने एवं उक्त मोबाईल से किसी अन्य मोबाइल पर काल न करने के कारण, फोन करने वाले व्यक्तियो की पहचान कर पाने में अत्यंत ही असुविधा उत्पन्न हो रही थी, क्योकि सिम एवं मोबाईल दोनो का ही उपयोग सिर्फ फरियादी के पिता से रकम मांगने तक की सीमित था, एवं मोबाईल भी किसी ऐसे व्यक्ति का था, जो आरोपियों को जानता भी नही था। ऐसे में मोबाईल से संबंधित समस्त तकनीकियों का उपयोग करते हुए फिरोती के लिए फोन लगाने वाले बदमाशों को चिन्हित करने प्रयास किया गया।

इसी बीच दिनांक 17.02.2020 को फरियादी से जानकारी मिली कि आरोपीगण दिनांक 17.02.2020 को फिरोती की रकम 10 लाख रूपये लेने हेतु कुक्षी आने वाले है। जिस पर क्राईम ब्रांच एवं थाना कुक्षी धार द्वारा फरियादी को विश्वास में लेकर बदमाशों द्वारा बताये स्थान मनावर कुक्षी रोड़ कापसी पुलिया के पास तीन लाख रूपये एक झोले के अंदर रखवा कर, झोला लेकर खडा किया। एवं अलग-अलग टीमें सादे कपडो में फरियादी से थोडी दूरी बनायी जाकर लगायी गयी। कुछ देर में एक आसमानी नीले रंग की सेन्ट्रो कार क्रमांक MP09CA5618में एवं हारनेट कंपनी की मोटर सायकल क्रमांक MP09VB5351 पर बैठे दो बदमाषों ने थैला लेकर कार के अंदर रखकर जाने लगे, वैसे ही टीम द्वारा संयुक्त रूप से बडी फूर्ति से तत्काल घेराबंदी करते हुए कार एवं मोटर सायकल से आए सभी बदमाशों को पकडा गया।

कार के अंदर बैठे दो लडको जिनका नाम पुछने पर पर उन्होने अपना नाम जैनुल हसन पिता मेहफुज खान जाति मुसलमान उम्र 26 साल निवासी नीमचौक मोहल्ला, जावरा थाना सिटी कोतवाली जिला रतलाम, रूबेन अरमान पिता स्व. मसुद खान उम्र 26 साल निवासी मुगलपुरा मोहल्ला, जावरा थाना सिटी कोतवाली जिला रतलाम का होना बताया। जिनकी तलाशी के दौरान 2 देशी पिस्टल 5 जिंदा कारतुस, 4 मोबाईल एवं एक बेग में नगदी 3 लाख रूपये मिले।

हारनेट कंपनी की मोटर सायकल क्रमांक MP09VB5351पर बैठे दोनो व्यक्तियों ने अपना नाम उबैद पिता छम्बु खान जाति मुसलमान उम्र 25 साल निवासी 35 मुगलपुरा मोहल्ला, जावरा थाना सिटी कोतवाली जिला रतलाम, राजा पिता स्व. अजगर शाह उम्र 24 साल निवासी प्रेमसुख टाकिज के सामने नार्थ तोडा थाना कोतवाली जिला इन्दौर बताया। दोनो की तलाशी के दौरान 2 देशी कट्टे 12 बोर के एवं 2 जिंदा कारतुस व 2 मोबाईल पुलिस द्वारा बरामद किए गए।

चारो आरोपियों से शस्त्र रखने व फिरोती के संबंध में पूछताछ करते उन्होने अपना जुल्म स्वीकार किया और बताया कि हम चारो व्यक्ति गोल्डन टीवीएस वाहन शोरूम कुक्षी के मालिक सुरेशचंद्र गुप्ता को फोन पर धमकी देकर 10 लाख रूपये की मांग कर रहे थे, तथा फिरौती के 10 लाख रूपये लेने के लिए ही यहा आए थे।

पूछताछ में आरोपी जैनुल व रूबेल ने पुलिस को बताया कि हम दोनो चचेरे भाई जावरा के रहने वाले है। हम दोनो ने मौज-मस्ती के लिए पैसो की आवष्यकता होने से लोगो से कर्जा लिए थे, जो न अदा कर पाने के कारण, फिरौती से पैसा प्राप्त किया जा सकता है, ऐसा सोचकर ’’रंगबाज वेब सिरीज’’ देखकर फिरौती की योजना बनाई थी। जिसके लिए हम दोनो ने 4 माह पहले कुक्षी के पास से एक राहगीर से आईटेल कंपनी का मोबाईल छीना था। जिसके कुछ दिनों के बाद हमने अपने एक अन्य साथी सिद्धार्थ उर्फ भूरा अधिकारी निवासी इन्दौर के साथ मिलकर 3 माह पूर्व गोल्डन सेठ के बेटे अमित को कुक्षी चैपाटी के पास, उसके कनपट्टी पर पिस्टल रखकर धमकी दी थी, एवं हवाई फायर भी किया था। तथा उस घटना के 10 दिन बाद हम दोनो ने गोल्डन सेठ को फोन लगाकर धमकी दी थी, और बोला कि हमने तेरे बेटे को 10 दिन पहले सिर्फ धमकाया था, अब हमे 10 लाख रूपये दो, वरना हम तुझे और तेरे बेटे को गोली से मार देंगे। इस पर फरियादी के पिता ने सुरेष चन्द्र गुप्ता ने 3 माह पहले हमें 10 लाख रूपये कुक्षी सुसारी बस स्टेण्ड पर लाकर दिए थे।
वह रूपये जैनुल व रूबेल ने आपस में 5-5 लाख बाटना बताया था दोनो ने मिलकर 50,000/- रू. सिद्धार्थ उर्फ भूरा अधिकारी निवासी इन्दौर को भी दिए थे। फरियादी ने बदमाषों के भय से उस समय पुलिस रिपोर्ट नही की थी।

इस घटना का मास्टर माइंड जैनुल हसन मूलतः रेलवे में इलेक्ट्रिकल टेक्निषियन, होकर महू मंे शासकीय नौकरी कर रहा है, तथा आरोपी जैनुल के बडे पापा का लडका रूबेल अरमान भी जावरा में रहता है, जिस पर जावरा सिटी कोतवाली थाने में एक लडकी के अपहरण एवं एक मारपीट का केस दर्ज है। आरोपी रूबेल की बहन धार जिलें के डही कस्बे के रहने वाले लक्की मुसलमान से ब्याही है, लक्की ही रूबेल को क्षैत्र की भोगोलिक परिस्थीयो के बारे में जानकारी देता था एवं घटना को अंजाम देने मे महत्वपुर्ण भुमिका अदा कर रहा था, फिलहाल आरोपी लक्की मुसलमान निवासी डही अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है ।

विशेष भुमिका निभाने वाले पुलिस अधिकारी

इस घटना का पर्दाफाश करने मे विशेष भुमिका निभाने वाले पुलिस अधिकारी एसडीओपी कुक्षी मनोहर सिहं बारिया, थाना प्रभारी कुक्षी के.एस पंवार, उनि अनोख सिंद्या, उनि राहुल चैहान, उनि पृथ्वीराजसिहं तोमर, क्राईम/सायबर ब्रांच प्रभारी संतोष कुमार पाण्डेय, सउनि धीरजसिहं राठौर, सउनि उदयसिहं भीण्डे, प्रआर अनसिंह, प्रआर रामसिंह गौर, प्रआर संजय राव, आर. गुलसिंह, आर. राजेशसिंह , आर. रुपेश, आर. राहुल, आर. बलराम, आर. संग्राम, आर. प्रशांत सिंह, आर. शुभम शर्मा, आर. विवेक, आर. आदर्श, प्रआर अनुज झा, आर. प्रदीप, आर. दिपेन्द्र, आर. वेस्ता, आर. गुलसिहं, आर. दुर्गेश, आर. प्रमोद, आर. कुंदन की महत्वपुर्ण भुमिका रही है। पुलिस अधीक्षक धार द्वारा उचित पारितोषि ईनाम देने की घोषणा की गई ।