गाँधी मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल में मांसाहार परोसे जाने से दिक्कत

भोपाल, जहाँ एक तरफ डॉक्टर मांसाहार को स्वस्थ्य के लिए हानिकारक बता रहे हैं वहीं दूसरी तरफ सरकारी संस्थाओं में मांसाहार परोसा जा रहा हैं! इस आशय के आरोप शाकाहार परिषद ने भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज हॉस्टल में परोसे जाने वाले मांसाहार को लेकर लगाए हैं। परिषद के अध्यक्ष डॉ अरविंद जैन ने बताया है कि यहाँ खाना व्यक्ति की पसंद मानकर परोसा जा रहा जबकि वहीं दूसरी तरफ एक व्यक्ति को अनमने मन से उसे खाने को मजबूर किया जाता हैं! ऐसा सब कुछ राजधानी भोपाल स्थित गाँधी मेडिकल कॉलेज भोपाल के हॉस्टल में किया जा रहा हैं।

इस बात की पुष्टि करने जब हॉस्टल के वार्डन से जानकारी चाही तो उन्होंने कुछ न बताने की बात कह कर संपर्क काट दिया! मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल में जो मेस संचालित हैं उसमे दोनों ही प्रकार का भोजन बनाया जाता हैं। ऐसे में कुछ विद्यार्थी जो पूर्ण शाकाहारी हैं उन्हें खासी परेशानी होती है। उनको बाहर जाकर खाना खाने को मजबूर होना पड़ रहा हैं! इस बात से अन्य लोगों की भावना पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा हैं। इस मामले में कॉलेज प्रशासन से ध्यान देने की मांग शाकाहार परिषद भोपाल के अध्यक्ष डॉ अरविंद जैन ने की है।