जिलाधिकारी ने विकास कार्यो की समीक्षा की

इलाहाबाद@ विकास कार्यो में तेजी लाने के ले जिलाधिकारी संजय कुमार ने जनपद के सभी अधिकारियों को अपनी कार्यशैली बदलने के लिए सचेत किया है। खास तौरव पर शिक्षा एवं स्वास्थ्य मे डीएम ने कडाई के साथ यह निर्देश दिया है कि जिले के किसी भी हिस्से में स्वास्थ्य सम्बन्धित समस्याओं का निराकरण शीघ्र किया जाय। जिलाधिकारी ने इस बात पर चिन्ता व्यक्त कि मौसम के प्रभाव से डेंगू और वायरल बुखार के मरीज अस्पतालों में आने लगे है। उन्होंने पूरे स्वास्थ्य महकमे को सचेत करते हुए निर्देशित किया सामुदायिक केन्दों में चिकित्सकों की उपस्थिति अनिवार्य रहे।

जिलाधिकारी श्री संजय कुमार आज संगम सभागार में सभी विभागों के अधिकारियों के साथ कार्यों की समीक्षा बैठक कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि दिये गये दायित्वों का निर्वाहन पूरी निष्ठा एवं ईमानदारी से किया जाय।
उन्होंने अधिकारियों को योजनाओं की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सचेत किया कि जनहित योजनाओं में लापरवाही किये जाने पर सख्त कार्यवाही की जायेगी।

जिलाधिकारी ने खनन विभाग की समीक्षा करते हुए खनन अधिकारी के द्वारा किये जा रहे कार्यो को देखा जिसमें उन्होंने खनन अधिकारी को सुधार लाने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को स्कूलों का निरीक्षण कर लापरवाही करने वालों लोगों के खिलाफ सख्त कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये।

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए सीएमओ को निर्देशित किया कि दवाओं की उपलब्धता में किसी प्रकार की कमी न हो। उन्होंने कहा कि चिकित्सक समय से अस्पताल में उपस्थित रहे इसकी व्यवस्था सुनिश्चित होती रहे। उन्होंने स्वास्थ्य मिशन में बच्चों के परीक्षण पर भी जोर देते हुए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया कि दो दिनों में ही परीक्षण कराकर रिर्पोट प्रस्तुत करे।

जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी से कार्यो में किये खर्चो एवं उनके ब्यौरा का विवरण दो दिनों में उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने स्वास्थ्य कार्यक्रमों में धीमी प्रगति होने पर सीएमओ पर नाराजगी व्यक्त की।
उन्होंने कहा कि जिला पंचायत राज अधिकारी स्वंय गांवो का निरीक्षण करे एवं योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित करावाये। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना की वस्तुस्थिति की जानकारी लेते हुए योजनाओं की फोटोग्राफी सहित उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

उन्होंने जनपद को ओडीएफ किये जाने की समीक्षा करते हुए नगर आयुक्त एवं सहायक नगर आयुक्त को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि ई-टेण्डरिंग से ही कार्यो को कराया जाना सुनिश्चित किया जाय। उन्होंन पारदर्शी किसान योजना की समीक्षा करते हुए पानी की स्थिति की जानकारी लिये।

उन्होने प्लानटेंशन के कार्यो को 15 सितम्बर तक पूरे किये जाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने मण्डी समिति में साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु मण्डी परिषद के अधिकारियों को निर्दैशित किया। जिलाधिकारी द्वारा मंडी समिति के कार्यो की कभी भी औचक निरीक्षण किया जायेगा जिसमे लापरवाही पाये जाने पर सम्बन्धित अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी।