संभागायुक्त ने कोरोना की चैन को ब्रेक करने रविवार को विराम देने के लिए जबलपुर कलेक्टर की सराहना की

कमिश्नर श्री चौधरी ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से की योजनाओं एवं कार्यक्रमों की समीक्षा

जबलपुर । संभाग आयुक्त श्री महेश चंद चौधरी ने आज जबलपुर संभाग के सभी जिला कलेक्टर्स के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यंम से किल कोरोना अभियान, कानून व्यवस्था, खाद-बीज की उपलब्धता व उपार्जित धान, गेहूं व चना के भुगतान, वन अधिकार पट्टे, प्रवासी श्रमिकों को रोजगार व स्किल मैपिंग की जिलेवार समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिये। संभागायुक्त ने जबलपुर कलेक्टर द्वारा अनलॉक-2 के तहत कोरोना की चेन ब्रेक करने के लिए रविवार के दिन विराम घोषित करने की सराहना की।

श्री चौधरी ने कहा कि किल कोरोना अभियान समय पर पूर्ण करें और यह ध्यान रखें कि ऐसा ना हो कि सैंपल ले और उसका जांच न हो, सैम्पल ज्यादा दिन वेटिंग में न रहे क्योंकि ज्यादा दिन वेटिंग में रहने से सैंपल खराब हो जाते हैं। इसके साथ उन्होंने मौसमी बीमारियां जैसे मलेरिया, डेंगू ,सर्दी-खांसी आदि की भी जानकारी ली। कानून व्यवस्था के संबंध में उन्होंने कहा कि सभी कलेक्टर यह सुनिश्चित करें कि जिले में कानून व्यवस्था बनी रहे, इसके लिए पुलिस व राजस्व की एक संयुक्त बैठक सभी जिला कलेक्टर आपेक्षित करे।

उन्होंने खाद-बीज की समीक्षा के वर्षा की स्थिति के साथ खरीफ फसलों का बोनी के प्रतिशत की जानकारी भी ली। वीडियो कान्फ्रेंसिंग में सभी जिला कलेक्टर्स से वन अधिकार पट्टा, रोजगार पोर्टल, स्किल मैपिंग कर उनकी दक्षता के अनुसार कौशल विकास, मनरेगा के कार्य और उपार्जित गेहूं, चना ,धान की भुगतान तत्काल करने के निर्देश दिये और कहा कि जहां कहीं भी भुगतान में खाते की विसंगतियों की बात आती है वहां खातों में सुधार कर भुगतान करने के निर्देश दिये। साथ ही कहा कि पानी से भींगे या अमानक उपार्जित गेहूँ, धान है उसका नीलामी करें और खराब फसल से संबंधित जितने भी डिस्प्यूट हैं उनका डिस्पोजल करें ।

उन्होंने कहा कि जैविक खाद के लिए किसानों को प्रोत्साहित करें। जब्ती वाले रेत का उपयोग शासकीय भवनों के निर्माण कार्यों में करें। कोरोना संक्रमण की चैन को ब्रेक करने के उद्देश्य से जबलपुर में किए जा रहे संडे अनलॉक के तहत विराम की सराहना करते हुए इसे और प्रभावी करने के निर्देश भी दिये। वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान श्री चौधरी ने सभी जिला कलेक्टर से कहा कि वे अपने-अपने जिलों में प्लांटेशन कराये, इससे सकारात्मलक वातावरण बनता है और वन विभाग तथा उद्यानिकी विभाग से पौधे का उठाव करें।

इसके साथ उन्होंने मध्यान्ह भोजन खाद्यान्न का उठाव व्यवस्थित तरीके से करने और इसकी समीक्षा करने के निर्देश दिए और कहा कि जबलपुर संभाग के सभी जिलों का माह में एक बार वीडियो कांफ्रेंस कर ज्वलंत विषयों पर चर्चा की जावेगी।