दमोह जिला अस्पताल में ही रहते हैं डॉक्टर्स

इस ख़बर को शेयर करें:

भोपाल  दमोह जिले में डॉक्टर्स और उनके साथी स्टाफ दिन-रात काम में जुटे हैं। जिला महामारी नियंत्रण की जिम्मेवारी संभाल रही सिविल सर्जन डॉ ममता तिमोरी, नाक-कान, गला रोग विशेषज्ञ डॉ. विशाल शुक्ला, शिशु रोग विशेषज्ञ, डॉ. राजेश नामदेव और आर.एम.डी. डॉ दिवाकर पटेल बीते कई दिनों से अपने परिजनों से अलग लगातार ड्यूटी के बाद जिला चिकित्सालय परिसर में ही अपना आश्रय बनाकर सेवाएं दे रहे हैं।

सिविल सर्जन डॉ. ममता तिमोरी ने कहा कि कोविड-19 की चिंता करने की जरूरत नहीं है। सावधानियां ही इसका उपचार है। मास्क लगाकर रखें, बार-बार हाथ धोयें। उन्होंने कहा मेरा हेडक्वार्टर जिला चिकित्सालय कैंपस के अंदर ही है। तीन अन्य डॉक्टर की टीम ने भी अपना हेड क्वार्टर जिला अस्पताल में ही बनाकर लोगों को 24 घंटे सेवा देने का फैसला किया है। टीम में डॉ दिवाकर पटेल, डॉ विशाल शुक्ला, डॉ राजेश नामदेव शामिल है।

डॉ. विशाल शुक्ला ने कहा कि जब से कोरोना संकट हमारे देश-प्रदेश में हुआ है, तभी से जिला अस्पताल में भी संक्रमण से बचाव के लिए तैयारियां चल रही हैं। हम डॉक्टर्स हैं अस्पताल में ही 24 घंटे ड्यूटी करते रहते हैं, ताकि लोगों को त्वरित सेवा दे सकें। डॉ. राजेश नामदेव शिशु रोग विशेषज्ञ बताते हैं कि घर परिवार से दूर रहकर इसलिये काम कर रहे है ताकि घर के लोगों को इंफेक्शन का खतरा ना रहे।