डोकलाम विवाद के राजनयिक समाधान पर जोर

भारत ने डोकलाम विवाद का राजनयिक रास्ते से हल तलाशने पर फिर जोर दिया है। जिसके लिए चीन के साथ संपर्क जारी है। साथ ही विदेश मंत्रालय ने हाफिज सईद के पाकिस्तान की राजनीति में आने पर आपत्ति जताते हुए कहा कि उसे मुंबई हमले मामले में बचाने की कोशिश हो रही है।

डो़कलाम गतिरोध के बीच भारत ने एक बार फिर कहा है कि बातचीत से रास्ता निकल आयेगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल वागले ने कहा कि गतिरोध का परस्पर स्वीकार्य समाधान निकालने के लिए वह चीन के साथ कूटनीतिक संपर्क बनाए हुए है और भूटान के साथ समन्वय स्थापित किए हुए हैं। वागले ने कहा कि भारत का लक्ष्य सीमा पर अमन-चैन हासिल करना है, और यह कूटनीति के जरिए ही हासिल होगा ।

भारत ने जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद को राजनीति में उतारने की कोशिश पर आपत्ति जताई है और इसे पाकिस्तान की चाल बताया है। गौरतलब है कि जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद चुनावी राजनीति में उतरने की योजना बना रहा है। उन्होंने ‘मिल्ली मुस्लिम लीग’ के नाम से राजनीतिक पार्टी के पंजीयन के लिए चुनाव आयोग में अर्जी दी है। अमेरिका की चेतावनी के बाद से पिछले छह महीने से हाफिज पाकिस्तान में नजरबंद है ।