नशे की गोलिया खिलाकर छात्रा से किया दुराचार

जबलपुर@ गढ़ा थानान्तर्गत कक्षा 12वीं की एक छात्रा से 2 साल पहले एक युवक ने दोस्ती की फिर धोखे से नशे की गोलियां खिलाकर दुराचार किया। घटना के बाद से युवक छात्रा को अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने लगा। उसने दो साल में कई बार छात्रा से ज्यादती की। युवक की हरकतों से तंग छात्रा ने मदद के लिए परिवारवालों, स्कूल प्रिंसिपल और पुलिस से आपबीती बताई, लेकिन हर जगह से उसे निराशा मिली। इससे आरोपी युवक के हौसले इतने बढ़ गए कि वह घर से निकलते ही 17 वर्षीय छात्रा का पीछा करने लगता। युवक बार-बार छात्रा पर संबंध बनाने का दबाव डाल रहा था। आरोपी की हरकतों से परेशान छात्रा ने स्कूल जाना छोड़ दिया था। बहुत जरूरी होने पर परिवार का कोई सदस्य उसे स्कूल छोड़ने और लेने जाता था। इसी बीच छात्रा को कोड रेड टीम की जानकारी हुई तो उसने फोन पर पुलिस से संपर्क किया। उसने टीम के सदस्यों को आपबीती बताई तो वे भी हैरान रह गए। उन्होंने छात्रा को मदद का भरोसा दिया। बुधवार को छात्रा का प्रैक्टिकल था। इसकी जानकारी होते ही पुलिस ने आरोपी को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। छात्रा जैसे ही स्कूल के लिए निकली आरोपी उसके पीछे लग गया और छेड़छाड़ करने लगा। यह देख पहले से मुस्तैद कोड रेड टीम ने भेड़ाघाट निवासी आरोपी राहुल सेन को गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ गढ़ा थाने में दुराचार का मामला दर्ज किया गया है।

छात्रा ने कोड रेड प्रभारी अरुणा बहाने को बताया कि दो साल पहले राहुल ने उसकी सहेली से उसके घर का नंबर लिया था और फिर उसे परेशान करने लगा। इसके बाद वह उससे दोस्ती करने को कहने लगा। छात्रा ने पुलिस को बताया कि एक दिन उसे राहुल मिला और दोस्ती करने को बोला। उसने जब इंकार किया, तो उसने एक बार उसके साथ कॉफी पीने के लिए कहा और उसे एक मकान में ले गया। जहां उसे धोखे से नशीली दवा पिलाकर उसके साथ दुराचार किया।छात्रा के मुताबिक राहुल ने उसे धमकी दी थी कि उसने उसका अश्लील वीडियो बनाया है। यदि वह शिकायत करेगी, तो वह यह वीडियो वायरल कर देगा। इसके बाद ब्लैकमेल कर कई बार दुराचार किया। छात्रा ने बताया कि राहुल उसके घर के पास छुपकर खड़ा रहता था। जैसे ही वह घर से स्कूल जाने के लिए निकलती थी, तो वह उसका पीछा करने लगता था। रास्ते में उसके साथ छेड़छाड़ और अश्लील बातें करता था। उसने यह बात अपने परिजन और प्राचार्य को भी बताई थी। इसके बाद उसके परिजन ने राहुल को समझाइश दी थी और पुलिस को भी जानकारी दी थी। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

जब राहुल ने छात्रा को परेशान करना नहीं छोड़ा, तो उसके परिजन उसे स्कूल छोड़ने और लेने जाने लगे थे। लेकिन फिर भी राहुल ने पीछा करना नहीं छोड़ा। एक दिन राहुल उसके घर में घुसा और उसे व उसके परिजन को वीडियो के बारे में जानकारी देते हुए धमकी दी। आरोपी राहुल बुधवार को फिर से छात्रा का पीछा करते हुए उसके स्कूल तक पहुंच गया। तभी घेराबंदी करके कोड रेड टीम ने उसे गिरफ्तार किया और गढ़ा पुलिस के हवाले कर दिया।