आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं की अन्य कार्यों में ड्यूटी पर रोक

खरगौन @ आंगनवाड़ी केंद्रों के हितग्राही संवेदनशील श्रेणी में आने के कारण आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं को अन्य कार्यों में लगाए जाने से ये महत्वपूर्ण सेवाएं बाधित होती हैं। साथ ही हितग्राहियों को दी जाने वाली विभागीय सेवाएं प्रभावित होती हैं। इसलिए अब आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं की आईसीडीएस कार्यों के अतिरिक्त अन्य कार्यों में ड्यूटी पर रोक लगा दी गई है। यह निर्देश एकीकृत बाल विकास सेवा आयुक्त ने प्रदेश के सभी कलेक्टर्स को निर्देश जारी किए है।

जारी आदेश में आयुक्त ने कहा कि संबद्ध प्रकृति की गतिविधियों यथा स्वास्थ्य, स्वच्छता, शिक्षा, एकीकृत बाल विकास परियोजना योजना के अतिरिक्त अन्य कार्यों में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं की ड्यूटी नहीं लगाई जाए। एकीकृत बाल विकास परियोजना की योजनांतर्गत आंगनवाड़ी केंद्रों के माध्यम से 0 से 6 वर्ष तक के बच्चों, गर्भवती व धात्री महिलाओं को आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा महत्वपूर्ण सेवाएं दी जाती हैं।

इन सेवाओं में पूरक पोषण आहार, स्कूल पूर्व अनौपचारिक शिक्षा, स्वास्थ्य शिक्षा, संदर्भ सेवा व गृह भेंट आदि महत्वपूर्ण सेवाएं होती हैं। संभागीय महिला एवं बाल विकास विभाग के संयुक्त संचालक राजेश मेहरा ने बताया कि अन्य कार्यों में भी कार्यकर्ताओं को 1 बजे पश्चात ही संबद्ध किया जा सकता है, ताकि आंगनवाड़ी केंद्र के माध्यम से बच्चों को नाश्ता व खाना बिना व्यवधान प्राप्त हो सकें।