स्टार प्रचारक की सूची से चुनाव आयोग ने कमलनाथ का हटाया नाम

भोपाल। भारत निर्वाचन आयोग ने भाजपा उम्मीदवार इमरती देवी को लेकर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का स्टार प्रचारक का दर्जा तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया है। इस संबंध में निर्वाचन आयोग के सचिव अरविन्द आनंद द्वारा शुक्रवार को आदेश जारी कर दिया गया है, वहीं कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग के इस निर्णय के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने की बात कही है।

उल्लेखनीय है कि गत दिनों कमलनाथ ने ग्वालियर जिले के डबरा विधानसभा क्षेत्र में भाजपा उम्मीदवार एवं शिवराज सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी को ‘आइटम’ शब्द कहकर संबोधित किया था। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के राष्ट्रीय महिला आयोग तक ने कमलनाथ के बयान पर आपत्ति दर्ज कराते हुए निर्वाचन आयोग से कार्रवाई की मांग की थी।

भाजपा ने भी शिकायत दर्ज कराते हुए कड़ी कार्रवाई की मांग की थी। इसके बाद निर्वाचन आयोग ने कमलनाथ को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया था। अब निर्वाचन आयोग ने कमलनाथ के खिलाफ कार्रवाई करते हुए कांग्रेस के लिए उनके स्टार प्रचारक का दर्जा समाप्त कर दिया है।

निर्वाचन आयोग द्वारा जारी आदेश में कहा है कि अब कमलनाथ को स्टार प्रचारक के रूप में मध्य प्रदेश के उप चुनाव में प्रचार की अनुमति नहीं है। इसलिए कोई भी निर्वाचन अधिकारी इस संबंध में अनुमति प्रदान न करे। अब यदि कमलनाथ प्रचार अभियान में शामिल होंगे तो उनकी यात्रा और रुकने आदि का संपूर्ण व्यय संबंधित विधानसभा क्षेत्र के उम्मीदवार के खाते में डाला जाएगा।

आयोग का आदेश आते ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता, राज्यसभा सांसद और जाने-माने वकील विवेक तन्खा ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि आयोग के इस आदेश के खिलाफ हम सुप्रीम कोर्ट जाएंगे।