रोजगार सेतु पोर्टल से अब 16 हजार से अधिक प्रवासी श्रमिकों को मिला रोजगार

भोपाल: प्रवासी श्रमिकों की सुरक्षित वापसी के साथ उन्हें रोजगार उपलब्ध करवाने के लिये राज्य सरकार द्वारा रोजगार के अनेक माध्यम विकसित किये गये। इन माध्यमों में मनरेगा के साथ-साथ रोजगार सेतु पोर्टल प्रारंभ किया गया। श्रमिकों को उनके कौशल के आधार पर रोजगार उपलब्ध कराने के लिये नियोक्ताओं को भी पोर्टल से जोड़ा गया। इस पोर्टल से अब तक 16 हजार 41 प्रवासी श्रमिकों को उनके कौशल के अनुरूप रोजगार उपलब्ध कराया गया है।

रोजगार पोर्टल पर प्रवासी श्रमिकों के साथ ही नियोक्ता संस्थाओं ने भी पंजीयन करवाया है। पोर्टल पर पंजीकृत नियोक्ताओं की संख्या 25 हजार 247 हो चुकी है, जिनके द्वारा 29 हजार 170 रिक्तियाँ प्रवासी श्रमिकों के लिये खोली गई हैं। रोजगार सेतु पोर्टल के अलावा मनरेगा में 3 लाख 54 हजार 268 प्रवासी श्रमिकों को रोजगार से जोड़ा गया है।

राज्य सरकार ने गरीब प्रवासी मजदूरों को संबल पोर्टल में दर्ज कर उन्हें विभिन्न प्रकार की आर्थिक सहायता पहुँचाई जा रही है। संबल पोर्टल पर 3 लाख 24 हजार 715 श्रमिक पंजीकृत हैं। इसके साथ ही आत्म-निर्भर भारत एवं राष्ट्रीय खाद्यान्न सुरक्षा कानून में 13 लाख 10 हजार 186 व्यक्तियों को खाद्यान्न सामग्री वितरित की गई। प्रवासी श्रमिकों के बच्चों को शाला में प्रवेश करवाने का कार्य भी प्राथमिकता के आधार पर किया गया। ऐसे 75 हजार 385 बच्चों को विभिन्न शासकीय शालाओं में प्रवेश की प्रक्रिया की गई।