‘ऊर्जा’-केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल का अंडर-19 फुलबाल टेलेंट हंट टूर्नामेंट-2017 सोमवार से गोवा में शुरू

भारत इस वर्ष अक्टूबर में फीफा अंडर-19 वर्ल्डकप का आयोजन कर रहा है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने न केवल बच्चों बल्कि अभिभावकों का भी आह्वान किया है कि वे लड़कों और लड़कियों को फुलबाल खेलने के लिए प्रोत्साहित करें और कौशल तथा फिटनेस का विकास करें। यह टूर्नामेंट कई तरह से एक महत्वपूर्ण आयोजन है। लेकिन, मिशन XI मिलियन हर दृष्टि से अभूतपूर्व होगा क्योंकि उसे मैदानी स्तर पर तैयार किया गया है, ताकि बच्चों को फुटबाल जैसा लोकप्रिय खेल खेलने के लिए प्रोत्साहित किया जाए।

प्रधानमंत्री के आह्वान को ध्यान में रखते हुए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों को यह जिम्मेदारी दी गई है कि वे ‘ऊर्जा’-केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के अंडर-19 फुलबाल टेलेंट हंट टूर्नामेंट-2017 का आयोजन करें। केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल एक मई से 15 मई, 2017 तक पूरे देश में अखिल भारतीय पुलिस खेल नियंत्रण बोर्ड के तत्वावधान में संयुक्त रूप से टूर्नामेंट का आयोजन कर रहा है। केंद्रीय औद्योगिकी सुरक्षा बल को जिम्मेदारी दी गई है कि वह महाराष्ट्र, तेलंगाना, आन्ध्रप्रदेश, गोवा, दादरा एवं नागर हवेली तथा दमन एवं दीव में टूर्नामेंट का आयोजन करे।

गोवा में सीआईएसएफ 19 वर्ष से कम आयु के लड़के एवं लड़कियों के ऊर्जा-2017 का आयोजन करेगा जो 1-10 मई, 2017 तक होगा। उद्घाटन समारोह 01 मई, 2017 को बैम्बोलिन फुटबॉल स्टेडियम में होगा। गोवा की राज्यपाल श्रीमती मृदुला सिन्हा मुख्य अतिथि होंगी। गोवा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर पर्रिकर समापन समारोह में विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे जो 10 मई, 2017 को होगा। गोवा में ऊर्जा-2017 के लिए अर्जुन पुरस्कार प्राप्त ब्रूनो कुटिनहो ब्रांड एम्बेसडर होंगे।

मिशन XI मिलियन स्कूल स्तरीय कार्यक्रम है जिसका उद्देश्य फुटबाल की ईको-प्रणाली में सुधार करना और राष्ट्रीय टीम के लिए प्रतिभा खोजना है। भारत के सभी 29 राज्यों में 37 से अधिक शहरों में और 12 हजार स्कूलों तक पहुंच बनाने के लिए यह कदम उठाया गया है। इसके लिए इसे तीन चरणों में बांटा गया है जिसमें शिक्षकों के लिए सेमिनार, स्कूली गतिविधियों और फुटबॉल उत्सवों को शामिल किया गया है। यह गतिविधि सितंबर, 2017 तक चलेगी।