राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए 31 जुलाई 2017 तक प्रविष्टियां आमंत्रित

इन्दौर | संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण इंदौर ने बताया कि भारत सरकार सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय नि:शक्तजन सशक्तिकरण विभाग नई दिल्ली द्वारा वर्ष 2017 के लिए दिव्यांग व्यक्तियों के सशक्तिकरण हेतु राष्ट्रीय पुरस्कार संबंधी योजना क्रियान्वित की गई हैं। जिसके तहत 14 विभिन्न श्रेणियों में पुरस्कार दिए जायेगें।

पुरस्कार हेतु जो विभिन्न श्रेणियां निर्धारित की गई हैं। उनमें सर्वश्रेष्ठ दिव्यांग कर्मचारी/स्व-नियोजित, सर्वश्रेष्ठ नियोक्ताओं तथा प्लेसमेन्ट अधिकारी या एजेन्सी, दिव्यांग व्यक्तियों के निमित्त कार्यरत सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति तथा संस्था, प्रेरणा स्त्रोत (रोल मॉडल), दिव्यांगजनों के जीवन में सुधार करने हेतु सर्वश्रेष्ठ अनुप्रयुक्त अनुसंधान/नवप्रर्वतन या उत्पाद विकास, दिव्यांगजनों के लिए बाधारहित वातावरण के सृजन में उत्कृष्ट कार्य, पुनर्वास सेवाएं प्रदान करने में सर्वश्रेष्ठ जिला, राष्ट्रीय विकलांग वित्त एवं विकास निगम की सर्वोत्तम राज्य चैनेलाइजिंग एजेन्सी,उत्कृष्ट सृजनशील वयस्क दिव्यांग व्यक्ति, सर्वश्रेष्ठ सृजनशील दिव्यांग बच्चा, सर्वोत्तम ब्रोल प्रेस, सर्वोत्तम सुगम्य वेबसाइट, दिव्यांगजनों के सशक्तिकरण को बढावा देने में सर्वोत्तम राज्य, सर्वोत्तम दिव्यांग खिलाड़ी आदि श्रेणियां शामिल हैं।

उन्होने बताया कि दिव्यांगजन सशक्तिकरण के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार हेतु विभिन्न श्रेणियों में निर्धारित मापदण्ड पूर्ण करने वाले व्यक्तियों, संगठनों और संस्थाओं से 15 अगस्त 2017 तक आवेदन आमंत्रित किये गये हैं। आवेदन केवल हिन्दी अथवा अंग्रेजी में होनी चाहिए। आवेदक विभिन्न नि:शक्तता की श्रेणियों के आवेदन-पत्र वेबसाइट से डाउनलोड कर व हार्डकॉपी निकालकर आवेदन कर सकते हैं। पुरस्कार की उपर्युक्त श्रेणियों के लिए प्रत्येक श्रेणी के लिए अलग-अलग मापदण्ड निर्धारित हैं।

राष्ट्रीय पुरस्कार 2017 की योजना का पूर्ण विवरण सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय की नि:शक्तजन अनुकूल वेबसाइट पर अवलोकन किया जा सकता हैं। इसके अलावा आवेदन कर्ता भारत सरकार, सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय, नई दिल्ली के दूरभाष नम्बर – 011-23070801 एवं 23388541 पर भी सम्पर्क कर सकते हैं। अपूर्ण प्रविष्टियां एवं निर्धारित समयावधि दिनांक 15 अगस्त 2017 व्यतीत होने के पश्चात् भारत सरकार, सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय, नई दिल्ली द्वारा प्राप्त आवेदन-पत्रों पर पुरस्कार हेतु विचार नहीं किया जायेगा।

संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय ने बताया कि जिला स्तर से प्राप्त प्रस्ताव आयुक्त, सामाजिक न्याय, म.प्र. की अनुशंसा से ही नई दिल्ली की ओर प्रेषित किया जाना हैं। संचालनालय सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन भोपाल द्वारा 31 जुलाई 2017 तक प्रस्ताव अनुशंसा सहित भिजवाने हेतु निर्देशित किया गया हैं। अत: उक्त श्रेणियों में शासकीय/अशासकीय तथा व्यक्तिगत पुरस्कार हेतु इच्छुक आवेदक अपने प्रस्ताव/प्रविष्टियां 31 जुलाई 2017 से पूर्व संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण इंदौर को भिजवाएं ताकि प्रस्ताव नियत समयावधि संचालनालय को भिजवाए जा सके।