किसानों से खेतों में नरवाई न जलाने की अपील

भोपाल@ उप संचालक कृषि ने किसानों को सलाह दी है कि वे नरवाई को जलाने के स्थान पर उसे रोटावेटर से मिट्टी में मिलाएं, जिससे यह जैविक खाद मे परिवर्तित होकर खेत को लाभ पहुंचाये। खेत में लगी फसल की कटाई के पश्चात अवशेष रही नरवाई नहीं जलाने के लिए किसानों से अपील की गई है।

उप संचालक कृषि ने बताया कि विगत वर्षो का अनुभव रहा है कि किसान भाई फसल कटाई के पश्चात फसल अवशेष, नरवाई को जला देते है, जिससे अग्नि दुर्घटना की आशंका के साथ-साथ भूमि में उपलब्ध जैव विविधता व सूक्ष्म जीव जलकर नष्ट हो जाते है एवं जैविक खाद का निर्माण बंद हो जाता है। भूमि की उपरी परत में उपलब्ध आवश्यक तत्व जलकर नष्ट हो जाते हैं। भूमि कठोर हो जाती है, जिससे भूमि की जल धारणा क्षमता कम होकर फसलें जल्दी सूखती है, इसके अतिरिक्त पर्यावरण प्रदूषण, तापमान वृद्धि से धरती का गर्म होना एवं खेत की मेढ़ के पेड़-पौधों, फल वृक्ष आदि जलकर नष्ट हो जाते है।