भारत में इस कंपनी को FDA ने दी कोरोना टेस्ट की आपात काल स्वीकृति

154

भारत में बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय व नियामक इकाईयों ने कड़े कदम उठाए हैं. देश भर में कोरोना टेस्ट की जांच के लिए 72 सेंटर बनाए गए हैं. इसी क्रम में FDA ने एक निजी कंपनी Roche Diagnostics को भारत में इमरजेंसी लाइसेंस दिया है.

अब ये कंपनी देश भर में कोविड 19 के मामलों की जांच कर सकेगी. आइए जानें- इस कंपनी से जुड़ी कुछ बातें और कैसे आपके लिए ये होगी भरोसेमंद. ये 124 साल पुरानी स्विस बहुराष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा कंपनी है. कंपनी की स्थापना 1896 में बेसल, स्विट्जरलैंड में हुई थी. आज दुनिया के 100 देशों में इस कंपनी ने अपना विस्तार कर लिया है. डायग्नोस्ट‍िक और नवीनतम दवाओं के जरिये आज ये विश्व स्तर पर लाखों रोगियों की मदद कर रही है.

कंपनी के बड़े शहरों में कलेक्शन सेंटर
इस कंपनी के देश के ज्यादातर बड़े शहरों में कलेक्शन सेंटर हैं. इस कंपनी को लाइसेंस मिलने के बाद अब ये देश के विभ‍िन्न हिस्सों से कलेक्शन लेकर कोराेना का परीक्षण कर सकती है. फिलहाल आईसीएमआर ने कंपनी से अपील की है कि वे भारत में कम से कम या बिल्कुल मुफ्त कोरोना का टेस्ट करें. ये दुनिया भर में दो डिवीजनों के तहत काम करती है: एक फार्मास्यूटिकल्स और दूसरा डायग्नोस्टिक्स. कंपनी का मुख्यालय बासेल में स्थित है.

बता दें कि ये दुनिया की सबसे बड़ी बायोटेक कंपनी है. कंपनी बायोटेक में दुनिया के नंबर 1 के साथ बाजार में इसके 17 बायोफार्मास्युटिकल हैं. कंपनी के उत्पाद पाइपलाइन में आधे से अधिक यौगिक बायोफर्मासिटिकल हैं, जो बेहतर लक्षित उपचार देने में सक्षम हैं.