फिरोजाबाद: सिपाही भर्ती परीक्षा में महिलाओं का मंगलसूत्र उतरवाया

उत्तर प्रदेश पुलिस में 41,520 पदों के लिए 18 और 19 जून को परीक्षा हो रही है। पुलिस भर्ती के लिए राज्य के 56 जिलों के 860 केंद्रों पर लिखित परीक्षा करवाई जा रही है। पुलिस भर्ती परीक्षा में फिरोजाबाद जिला में महिलाओं को अपमान का सामना करना पड़ा। यहां पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा को लेकर शहर के महात्मा गांधी इंटर कॉलेज में महिला परीक्षार्थियों के गले से सुहाग का मंगलसूत्र उतरवा लिया गया।

महिलाओं का आरोप है कि सुहाग के प्रतीक मंगलसूत्र को भी पुलिस ने नहीं बख्शा। पुलिस ने कहा कि अगर परीक्षा देनी है तो मंगलसूत्र उतारना होगा। मंगलसूत्र उतरवाने के पुलिस के तालिबानी आदेश के बाद परीक्षार्थियों में आक्रोश है। हालांकि महिलाओं ने कहा कि पेपर होने के बाद वह इसका विरोध करेंगे। मंगलसूत्र उतारने वाली घटना का लोगों ने विरोध किया है। पूरे मामले में अधिकारी किसी भी तरह का पक्ष रखने को तैयार नहीं हैं, पुलिस का कहना है कि सुरक्षा के लिहाज और शासन के सख्त निर्देश के चलते मंगलसूत्र उतरवाया गया है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में 18 और 19 जून को 41,520 पदों के लिए सिपाही भर्ती परीक्षा होने जारी रही है। 56 जिलों के 860 केंद्रों पर सिपाही भर्ती के लिए लिखित परीक्षा होनी है। 18000 पीएसी आरक्षी और 23520 नागरिक पुलिस आरक्षी (महिला व पुरुष) के पद के लिए 23 लाख 67 हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। परीक्षा कराने की जिम्मेदारी टीसीएस को दी गई है। इस परीक्षा में पहली बार ओएमआर शीट 24 सीरीज की होगी। यदि एक कमरे में 24 परीक्षार्थी बैठे तो किसी भी ओएमआर शीट के प्रश्न क्रमानुसार मैच नहीं कर पाएंगे।

आपको बता दें कि सिपाही भर्ती परीक्षा के लिए उम्मीदवारों की सबसे ज्यादा संख्या सहारनपुर जिले में है। इस परीक्षा में पूरे प्रदेश के लगभग 22.50 लाख उम्मीदवार शामिल रहेंगे। इसके साथ ही मेरठ में 13680, बागपत में 2064, शामली में 5424, नोएडा में 4200, गाजियाबाद में 12264, हापुड़ में 6792, मुजफ्फरनगर में 10872, सहारनपुर में 18600, बुलंदशहर में 10248 अभ्यर्थी यूपी पुलिस आरक्षी पद के लिए परीक्षा देंगे। सीधी भर्ती परीक्षा में पारदर्शिता बनाये रखने के लिए ये फैसला लिया गया है कि हर केंद्र पर अटेंडेंस के लिए बायोमेट्रिक्स की व्यवस्था की जायेगी।

हल्के कपड़े जैसे पतलून, सलवार सूट इत्यादि।
बड़े बटन, ब्रोच / बैज, फूल इत्यादि नहीं होने चाहिए।
चप्पल, कम ऊंची एड़ी के सात सैंडल।
जूतों के साथ प्रवेश की अनुमति नहीं है।