वन विभाग के अमले ने भालू के 4 शिकारियों को पकड़ा

इस ख़बर को शेयर करें:

अनूपपुर@ वन मण्डलाधिकारी प्रियांशी सिंह राठौर ने बताया कि 20 अगस्त को सूचना मिलने पर वन मण्डल अनूपपुर के वन परिक्षेत्र बिजुरी के अंतर्गत निगवानी सर्किल के बीट चाका के वन खंड क्र. पी.एफ. 550 में वन परिक्षेत्र बिजुरी का वन अमला तत्काल घटना स्थल पर पहुंचा, जहां पर वन क्षेत्र के 100 मीटर अंदर झाड़ियों से तेज बदबू आ रही थी, पास जाकर देखा तो वन्य प्राणी भालू मृत पड़ा था, जिसे विद्युत लाईन से जी.आई. तार द्वारा जमीन में खूटी गाड़ कर करेंट फंसाया गया था। घटना स्थल की बारीकी से जांच करने पर घास जली हुई पायी गयी तथा मृत भालू को तत्काल सुपुर्द में लिया गया। घटना स्थल की संपूर्ण कार्यवाही के उपरांत नियमानुसार पोस्टमार्टम कराया गया। पोस्टमार्टम के उपरांत मृत वन्य प्राणी भालू के शव को जलाकर नष्ट किया गया। छान-बीन के दौरान पाया गया मृत नर भालू की अनुमानित आयु दो से तीन वर्ष थी।

शिकार करने वाले चार कंजू जायसवाल 34 वर्ष, भोला जायसवाल 58 वर्ष दोनो निवासी ग्राम चाका, राम सहाय जायसवाल 40 वर्ष, संतोष सिंह गोंड़ 28 वर्ष ग्राम बसनिहाटोला को उसी दिन गिरफ्तार किया गया। उपरोक्त चार अभियुक्तों के कथन दर्ज किए गए, जिसमें लेख कराया गया है कि चारों अभियुक्त मिलकर भालू का शिकार विद्युत करंट लगाकर 16 अगस्त को किए थे और भालू को झाड़ियों में छुपा दिये थे। अभियुक्तों पर कार्यवाही कर न्यायालय प्रथम श्रेणी कोतमा में प्रस्तुत किया गया है, प्रकरण रिमांड पर 5 सितम्ब तक है। उक्त प्रकरण में वन परिक्षेत्राधिकारी बिजुरी आर.डी. कोल, परिक्षेत्र सहायक कोठी कुंवर सिंह सोरठे, परिक्षेत्र सहायक निगवानी बी.एस. शुक्ला, बीटगार्ड चाका सूरज प्रताप सिंह, बीटगार्ड निगवानी विनय कुमार पाण्डेय, बीटगार्ड दुल्हीबांध आशीष कुमार पाण्डेय, बीटगार्ड जर्राटोला प्रकाश कुमार त्रिपाठी, बीटगार्ड पकरिहा कुंवर सिंह परस्ते द्वारा तत्काल छापामार कार्यवाही कर अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया।