मनमाने तरीके से जमीन देने वाले शाहजहांपुर के पूर्व एसडीएम की पेंशन रोकी
इस ख़बर को शेयर करें

शाहजहांपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार पर एक वार और किया है। उनके निर्देश पर शाहजहांपुर के पुवायां तहसील में रहते हुए मनमाने तरीके से धारा 33/39 में दाखिल-खारिज करने वाले तत्कालीन उप जिलाधिकारी विनोद कुमार शर्मा की पेंशन रोकने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

वह वर्ष 2011 में सेवानिवृत्त हो चुके हैं। विनोद कुमार शर्मा पुवायां तहसील में उपजिलाधिकारी के पद पर तैनात थे। एक व्यक्ति ने उन्हें 70 एकड़ एक जमीन में अपना नाम चढ़ाने के लिए पत्र दिया। उन्होंने तसहीलदार से इस पर रिपोर्ट मांगी। तहसीलदार ने स्पष्ट कहा कि नियमानुसार संबंधित व्यक्ति का नाम दर्ज नहीं किया जा सकता है। इसके बाद भी उस व्यक्ति का नाम जोड़ दिया गया। इतना ही नहीं इसमें दो गाटा और जोड़ दिया गया।

बताया जाता है कि इसके बाद जमीन और बढ़ गई।शिकायत के आधार पर जांच में दोष सिद्ध होने पर उन्हें पदावन्नत करते हुए तहसीलदार बना दिया गया। विनोद कुमार शर्मा वर्ष 2011 में सेवानिवृत्त हो गए। यह मामला ट्रिब्यूनल में चल रहा था। उनके ऊपर आरोप सिद्ध होने के बाद मुख्यमंत्री के निर्देश पर वर्ष 2011 से पेंशन रोकने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।