रुपए के लेन-देन को लेकर दोस्त ने ही की दोस्त की हत्या, चार अभियुक्त गिरफ्तार
इस ख़बर को शेयर करें

लखीमपुर खीरी। वादी मुनींद्र प्रताप पुत्र स्व0 श्री छोटेलाल नि0 मोहल्ला राजगढ़ थाना कोतवाली सदर खीरी ने दि0 12.10.20 को थाना मैलानी पर सूचना दी कि उनके बड़े भाई देवेन्द्र प्रताप (श्रीमती सत्यवती, वर्तमान चैयरमैन, नगर पंचायत परिषद मैलानी के पति) पुत्र स्व0 श्री छोटेलाल नि0 मोहल्ला दामोदरपुर वार्ड नं0 10 कस्बा व थाना मैलानी खीरी दिनांक 11.10.20 की शाम 07.19 पर कुछ कार्य से बाजार के लिए निकले थे जो अब तक घर वापस नहीं आए हैं।

उक्त सूचना पर थाना मैलानी पर दिनांक 12.10.20 को समय 04.09 बजे गुमशुदगी रिपोर्ट पंजीकृत कर गुमशुदा की तलाश हेतु पुलिस अधीक्षक खीरी के निर्देशन में, क्षेत्राधिकारी गोला के नेतृत्व में 5 टीमें गठित की गई थी। जिसमें SOG एवं DOG SQUAD भी शामिल थी।

शिकायत में बताया गया कि गुमशुदा देवेन्द्र प्रताप 11 अक्टूबर की शाम धीरेन्द्र उर्फ धीरू लगभग 31 वर्ष के साथ बाजार गये और घर नही लौटे। धीरेन्द्र उर्फ धीरू उम्र कई वर्षो से देवेन्द्र के सहयोगी एवं विश्वासपात्र थे। धीरेन्द्र से गहराई से पूछताछ करने पर उसने खुलासा किया कि उसने अपने 3 अन्य साथियों रणजीत उम्र लगभग 27 वर्ष, अभिषेक उम्र लगभग 22 वर्ष व सुमित उम्र लगभग 21 वर्ष के साथ मिलकर गुमशुदा देवेन्द्र को साथ लिया और रणजीत की इनोवा कार की पिछली सीट पर धीरेन्द्र एवं अभिषेक ने रस्सी से गला घोंट कर देवेन्द्र प्रताप की हत्या कर दी।

तीसरा साथी सुमित मोटरसाइकिल से उनके पीछे चल रहा था। हत्या के बाद चारों अभियुक्तों ने मिलकर शव को बड़ी नहर मे फेंक दिया। नहर में पीएसी बाढ दल एवं गोताखोरों द्वारा शव की तलाश की जा रही है। चारों अभियुक्तगण मय इनोवा गाड़ी, बजाज मोटरसाइकिल व हत्या में प्रयुक्त रस्सी के साथ गिरफ्तार कर लिए गए हैं।

सभी चारों अभियुक्तों द्वारा अपने जुर्म को स्वीकार किया गया है। मुख्य अभियुक्त धीरेन्द्र द्वारा बताया गया है कि हत्या का मूल उदेश्य अभियुक्त व मृतक के बीच 6,00,000/- रु0 (छः लाख रूपये) के लेन-देन को लेकर था।

इस अपराध में सहयोग देने हेतु धीरेन्द्र द्वारा बाकी अभियुक्तगण को 01 लाख रु0 देने की बात तय हुई थी। प्रकरण में थाना मैलानी पर मु0अ0सं0 317/20 सुसंगत धाराओं में पंजीकृत करके विवेचना प्रभारी निरीक्षक थाना मैलानी श्री विद्याशंकर शुक्ला द्वारा की जा रही है।

बरामदगीः- 01 अदद इनोवा कार सं0 UP 12 S 6136,  01 अदद मोटरसाइकिल बजाज विक्रान्त UP 31 AU 1534, आलाकत्ल रस्सी
उल्लेखनीय भूमिका –

प्रभारी निरीक्षक विद्याशंकर शुक्ला , उ0नि0 अजय मिश्रा,उ०नि० के0के0 यादव, उ0नि0 डी0के0 सिंह, उ०नि० अनिल सिंह, का० मोहित कुमार, का० अरुण कुमार , का0 शराफत अली (सर्विलांस सेल), का0 तुषार (स्वाट टीम), का० अजीत यादव (स्वाट टीम), का० गोल्डन (स्वाट टीम), का० विक्रान्त (स्वाट टीम), का० परीक्षित (स्वाट टीम), का0 महताब (स्वाट टीम)