एफपीआई ने फरवरी में अब तक किया 23,102 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश

बजट के बाद बनी सकारात्मक धारणा तथा रिजर्व बैंक के उदार रुख बनाये रखने से उत्साहित विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने फरवरी महीने में अब तक घरेलू बाजार में 23,102 करोड़ रुपये लगाये हैं।

डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, तीन फरवरी से 20 फरवरी के दौरान एफपीआई ने इक्विटी में 10,750 करोड़ रुपये और बांड श्रेणी में 12,352 करोड़ रुपये लगाये हैं। इस दौरान आलोच्य अवधि में एफपीआई का कुल निवेश 23,102 करोड़ रुपये रहा। एफपीआई पिछले साल सितंबर से घरेलू बाजार में शुद्ध निवेशक बने हुए हैं।मॉर्निंगस्टार इंवेस्टमेंट एडवाइजर इंडिया के वरिष्ठ विश्लेषक प्रबंधक (शोध) हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘बजट के बाद बनी सकारात्मक धारणा और रिजर्व बैंक द्वारा हालिया मौद्रिक नीति समीक्षा में उदार रुख बनाये रखने समेत कई कारक हैं, जिन्हें लेकर विदेशी निवेशक घरेलू अर्थव्यवस्था की नरमी तथा कंपनियों के तिमाही परिणामों की धीमी वृद्धि दर के बाद भी घरेलू बाजार में निवेश किये जा रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि बजट में लाभांश वितरण कर हटाने तथा कॉरपोरेट बांड में एफपीआई की सीमा नौ प्रतिशत से बढ़ाकर 15 प्रतिशत करने से भी विदेशी निवेशकों का भरोसा बहाल करने में मदद मिली है।