मास्क वितरण अभियान के तहत किया गया निःशुल्क मास्क वितरण
इस ख़बर को शेयर करें

बुरहानपुर। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बुरहानपुर, जाइंट्स ग्रुप आफ़ बुरहानपुर, जन जागृति संस्था बुरहानपुर, श्री गुरु दत्तात्रेय सेवा ट्रस्ट जिला इकाई बुरहानपुर के संयुक्त तत्वधान में प्रकाश टाकीज चौराहे के पास मंडी बाजार बुरहानपुर में आयोजित मास्क वितरण समारोह को संबोधित करते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बुरहानपुर के सचिव एवं एडीजे बुरहानपुर नरेंद्र पटेल ने कहा कि भारत सहित पूरा विश्व विगत 7 माह से कोविड नामक एक गंभीर बीमारी से ग्रस्त है।

जहां पहले हम एक दुसरे के साथ उठते बैठते थे, मिलजुल कर रहते थे, हाथ मिलाते थे लेकिन कोविड 19 नाम के संक्रमण के कारण हमें एक दूसरे से दूरी बनाकर रखना आवश्यक हो गया है। मास्क पहनो तो जान और जहान है। वर्तमान में मास्क ही सबसे अच्छा और सुरक्षित उपाय है। पटेल ने कहा कि समय समय पर जब भी आप घर स बाहर निकलें तो मास्क लगाएं एवं हाथ सेनीटाईज करें एवं पर्याप्त दूरी बनाये रखें।

जनजाग्रति संस्था बुरहानपुर के अध्यक्ष महेश खंडेलवाल ने कहा कि सामाजिक दूरी एवं हम सब लोगों की सुझबुझ ही इस जानलेवा बीमारी से हमें स्वयं के साथ साथ दूसरों को भी बचाने में कारगर साबित हो सकती है, क्योंकि किसी का भी चेहरा यह नहीं बोलता की वह इस बीमारी से ग्रस्त है इसलिए दूरी बनाकर चलना एवं मिलना ही सबसे बड़ी समझदारी है।

अगर किसी को ज़रा सी सर्दी जुकाम खांसी बुखार या अन्य कोई एसे लक्षण हों जो कोविड जैसी बीमारी संबंधित हो तो वह व्यक्ति तत्काल जिला अस्पताल में जाकर डॉक्टर से सम्पर्क करे जिससे हम अपने साथ साथ दूसरों की भी रक्षा कर सकें। श्री गुरु दत्तात्रय सेवा ट्रस्ट जिला इकाई बुरहानपुर के अध्यक्ष महेंद्र जैन ने कहा कि पहले एक एसी बीमारी थी जिसे हम एड्स के नाम से जानते हैं जो ऐसे व्यक्ति से फैलती थी जो उससे संक्रमित होता था और समबन्ध बनाने पर वह बीमारी एक दूसरे को जो समबन्ध बनाते थे उनको होती थी किन्तु वर्तमान समय की कोविड 19 जैसी बीमारी ने इस देश के ही नहीं विश्व के बुद्धिजीवियों एवं वैज्ञानिकों को सोचने को मजबूर कर दिया है कि आखिर यह कैसी बीमारी है?

इन्सान से इन्सान अगर साथ उठता बैठता है मिलता जुलता है तो यह बीमारी वैसे ही फ़ैल जाती है। सिर्फ इस बीमारी से बचने का एक मात्र कारण ही दूरी बनाकर रखें, प्रत्येक मानव मास्क जरुर पहने एवं दूसरों को भी यह संदेश देते रहें तब ही जाकर हम कोविड जैसी घातक बीमारी पर काबू पाने में सफलता पा सकते हैं। इस अवसर पर शोभा चौधरी, डॉ. अशोक गुप्ता, रजनी गट्टानी, नंदकिशोर जांगडे, प्रेमलता साकले, सुधीर खिरदे, जयकिशोर शुक्ला, नंदकिशोर मरावी आदि उपस्थित थे।