भोपाल में आज रात 8 बजे से 10 दिन के लिए जारी रहेगा पूर्ण लॉकडाउन

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने यहां 10 दिन का लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया है। यह लॉकडाउन शुक्रवार रात 8 बजे से शुरू होकर चार अगस्त की सुबह 5 बजे तक जारी रहेगा।

भोपाल में शुक्रवार रात 8 बजे से 10 दिन के लिए टोटल लॉकडाउन लगाया जाएगा। यह लॉकडाउन 4 अगस्त की सुबह 5 बजे तक प्रभावी रहेगा। भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने 10 दिन के इस लॉक डाउन को लेकर गुरुवार को दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं।

लॉक डाउन के दौरान भोपाल नगर निगम सीमा से बाहर और अंदर आने जाने की अनुमति नहीं रहेगी। शहर की सीमा पर आवाजाही के लिए पूर्व की तरह ई-पास की आवश्यकता रहेगी। विशेष अनुमति प्राप्त प्रतिष्ठानों को छोड़कर सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे।

लॉक डाउन के दौरान परिवहन सेवा पूरी तरह बंद रहेगी। शहर में स्कूल , कोचिंग, जिम, ऑडिटोरियम, होटल्स, रेस्टोरेंट, पार्क, स्विमिंग पूल, शॉपिंग मॉल्स बन्द रहेंगे। भोपाल में किसी भी प्रकार के समारोह या जमावड़े पर प्रतिबंध रहेगा। साथ ही धार्मिक स्थल पूर्णतः बन्द रहेंगे। इसके अलावा आवश्यक सेवा वाले विभागीय कार्यालय खुलेंगे।

राजस्व अर्जित करने वाले कार्यालय 30 प्रतिशत की क्षमता के साथ काम करेंगे। इस लॉक डाउन में सरकार ने आर्थिक गतिविधियों को चालू रखने की मंशा से इडस्ट्रीज को राहत ही है। भोपाल से सटे औद्योगिक क्षेत्र मंडीदीप और पीलूखेड़ी में उद्योगों की गतिविधियों और परिवहन के लिए कहा गया है कि वहां काम करने वाले लोगों को अपने पास प्रमाण पत्र रखना अनिवार्य होगा।

इस लॉक डाउन में दूध और दवाई की दुकानें खुली रहेंगी। सांची पार्लर में किराना और खाद्य सामग्री बेचने की अनुमति सरकार ने दी है। सब्ज़ी और फल की आपूर्ति ज़िला प्रशासन करेगा। इसके अलावा सरकारी राशन की दुकानें इस लॉक डाउन में खुली रहेंगी।

गाइडलाइन में साफ कहा गया है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने, मास्क न पहनने और लॉक डाउन के नियमों को तोड़ने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि राज्य सरकार ने 2 दिन पहले बुधवार को ही आम जनता को इस लॉक डाउन की सूचना दे दी थी और कहा था कि 10 दिन के लॉक डाउन के हिसाब से आवश्यक वस्तुओं का इंतज़ाम कर लें।