भू माफियाओ ने फरवरी में ही दी थी जान से मरने की धमकी

अधिवक्ता लाल बचन को फरवरी में जमीन के मुकदमे के मामले में भू माफियाओ ने धमकी दी थी कि पैरवी छोड़ दो नहीं तो जान से मार दिए जाओगे। धमकी के बाद लाल बचन ने तमाम अधिकारियों से भी शिकायत की थी। कुछ दिन पहले डीएम को भी उन्होंने प्रार्थनापत्र देकर सुरक्षा की गुहार लगाई थी। इस मामले में कोई कार्रवाई हो, इससे पहले ही उन्हें मार दिया गया। पुलिस फिलहाल इसी एंगल पर जांच कर रही है।
सोरांव तहसील में गद्दोपुर के सदाशिव यादव उर्फ छोटे बच्चा और राजेश्वरी उर्फ राजकली के बीच जमीन को लेकर मुकदमा चल रहा था। राजेश्वरी की पैरवी लाल बचन कर रहे थे। लाल बचन के वकील बेटे पंकज के मुताबिक इसी साल 26 और 27 फरवरी को छोटे बच्चा ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी थी। उसने कहा था कि वह राजेश्वरी के पक्ष में पैरवी करना बंद दे नहीं उनकी हत्या करा देगा। इसके बाद उन्होंने तमाम अधिकारियों से सुरक्षा की गुहार भी लगाई थी। धमकी के मद्देनजर वह पिछले दो महीनों से बाइक से नहीं कार से तहसील जाते थे।

वह किसी न किसी को साथ में भी लिए रहते थे लेकिन सोमवार को वह अकेले बाइक से तहसील जाने के लिए निकले और उनकी हत्या कर दी गई। पंकज के मुताबिक कुछ दिन पहले उन्होंने डीएम को प्रार्थनापत्र देकर सुरक्षा की गुहार भी लगाई थी। एसएसपी नितिन तिवारी ने बताया कि छोटे बच्चा की तलाश की जा रही है। पुलिस ने उसके घर पर दबिश दी थी लेकिन वह मिला नहीं। उसके घर के कुछ लोगों को पकड़ा गया है। उनसे पूछताछ के बाद छोटे बच्चा के संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है। तहरीर के मुताबिक दो बाइक पर सवार चार लोगों ने वकील लाल बचन को गोली मारी। इसकी तस्दीक की जा रही है। हाईवे का मामला होने के कारण अभी तक कोई प्रत्यक्षदर्शी नहीं मिला है। सोरोव तहसील में आज भी वकीलों ने किया धरना प्रदर्सन गिरफ़्तारी न होने के कारण प्रशासन ने दिया अधिवक्ताओ को दिया आश्वासन बहुत जल्द होगी गिरफ़्तारी